कोरोना का कहर : एक दिन में ही सामने आए 13 संदिग्ध, रहें सावधान

कोरोना संदिग्धों के सैंपल की चल रही जांच

इंदौर. कोरोना वायरस Corona virus को रोकने के लिए चलाए जा रहे सतर्कता अभियान के बीच इंदौर जिले में मंगलवार को 13 संदिग्ध मरीज सामने आए हैं। ये सभी विदेश यात्रा कर लौटे हैं। इस सभी के स्वाब जांच के लिए एमजीएम मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजी लैब भेजे गए हैं। आज शाम तक इनकी रिपोर्ट आने की उम्मीद है।

अब तक अधिकतम 2 या 3 ही संदिग्ध सामने आ रहे थे, लेकिन मंगलवार को स्क्रीनिंग में अचानक 13 संदिग्ध सामने आ गए। स्वास्थ्य विभाग ने पूर्व में यात्रा कर चुके लोगों की तलाश शुरू कर दी है। इसमें ऐसे सभी मरीजों को संदिग्ध माना जा रहा है। जिन्हें सर्दी-खांसी के साथ बुखार भी है। अन्य जिलों में 8 ऐसे संदिग्ध मिले हैं। इनके सैंपल भी जांच के लिए भेजे गए हैं। इंदौर जिलों के संदिग्धों में 5 बॉम्बे अस्पताल, 1 चौइथराम अस्पताल सहित अन्य निजी अस्पताल में भर्ती हैं। फिलहाल सभी की स्थिती सामान्य है और कोरोना जैसे लक्षण आंशिक रुप से ही दिखाई दिए हैं।

घर से बाहर निकले तो जाना होगा जेल

कोरोना के अनियंत्रित संक्रमण से बचने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन किया गया है। इस दौरान कोई घर से न निकले। सामाजिक दूरी से ही कोरोना के संक्रमण को खत्म किया जा सकता है। इस दौरान केवल चिकित्सीय जरूरत, राशन, दवा, दूध और सब्जी खरीदने जाने की अनुमति होगी। लेकिन सोशल डिस्टेंश का ध्यान रखना है। आपदा प्रबंधन एक्ट के तहत लागू पाबंदियों को नहीं मानने पर एक साल की सजा व जुर्माना हो सकता है। किसी के पाबंदी तोड़ने पर किसी की जान जाती है और दोष साबित होता है तो दो साल की सजा होगी।

 

बेवजह घूमते मिले तो मिलेगा दंड

लॉकडाउन के बाद भी बेवजह घूमते पाए जाने पर लोगों को पुलिस ने सख्ती से घर भेजा। कई स्थानों पर ऐसे लोगों से उठक-बैठक भी लगवाई गई। इनके हाथ में पर्चा भी पकड़ाया जा रहा है, जिस पर लिखा है कि 'मैं समाज का दुश्मन हूं, मैं घर पर नहीं रहूंगा"। इसके बाद पुलिसकर्मी मोबाइल से फोटोे खींचकर वाट्सएप व फेसबुक पर भी वायरल कर रहे हैं।

KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned