VIDEO STORY : भूखे सोने को मजबूर रहवासी, कह रहें - भूखे मरने से अच्छा है कि कोरोना से ही मर जाए

नहीं पहुंच रही राशन सामाग्री...

By: KRISHNAKANT SHUKLA

Published: 08 Apr 2020, 05:24 PM IST

इंदौर : कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने के लिए इंदौर प्रशासन मुस्तैदी के दावे कर रहा है। लेकिन इसके बावजूद भी इंदौर के शांतिनगर के रहवासियों का आरोप है कि उनके घर तक जरूरी राशन की सामाग्री नहीं पहुंच रही है। उनका कहना है कि भूखे मरने से अच्छा है कि कोरोना से ही मर जाए। ये स्थिति सिर्फ एक ही इलाके नहीं बल्कि ऐसे कई इलाकों से लोगों की शिकायतें है कि उनतक राशन नहीं पहुंच पा रहा। घर से निकलने पर पाबंदी है।

हर परिस्थिति में उनके साथ

वहीं जिला कलेक्टर मनीष सिंह का कहना है कि वे हर परिस्थिति में उनके साथ हैं। परंतु किसी भी स्थिति में लापरवाही की कोई गुंजाइश नहीं है। लोगों के घरों तक राशन पहुंचान के लिए नगर निगम की टीम दिन रात काम कर ही है। कुछ दिनों में स्थिति काफी सुधर जाएगी।

रानीपुरा, हाथीपाला हॉट स्पॉट क्षेत्र

उन्होंने कहा कि डॉक्टर्स को सैंपलिंग का कार्य गंभीरता से करना है। जिस घर में जाकर सैंपल एवं सर्वे का कार्य किया जा रहा है वहां सर्वे टीम को, उन्हें अपने बच्चों की तरह सेवाभाव से कार्य करना होगा। कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि रैपिड रिस्पांस टीम के द्वारा किए गए कार्य कि वे स्वयं नियमित रूप से मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

coronavirus
Show More
KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned