VIDEO : निगम ने बुलडोजर से तोड़े अवैध निर्माण, कब्जाधारी ने कहा - इस पूर्व पार्षद ने कराया था कब्जा

नगर निगम की संपत्ति पर कर रखा था सालों से कब्जा

इंदौर. बाणगंगा क्षेत्र में पूर्व पार्षद द्वारा नगर निगम की संपत्ति पर कराया गया कब्जा बुधवार को निगम ने खाली करा लिया निगम ने अपनी संपत्ति को सील करते हुए उस पर कब्जा लिया। कब्जा धारी का कहना था कि 10 साल पहले उन्हें पूर्व पार्षद प्रीति करोसिया ने यह जगह उपलब्ध कराई थी प्रीति करोसिया के पिता और हत्या के आरोप में जेल में बंद जगदीश करोसिया ने इसे नगर निगम पर लीज पर लिया था और कागज उन्हीं के पास है।

नगर निगम के रिमूवल दस्ते ने पुलिस द्वारा उपलब्ध कराए गए कब्जों की सूची के अनुसार कार्रवाई शुरू की थी इस दौरान बाणगंगा क्षेत्र में पहले मरीमाता चौराहे पर बीमा अस्पताल के पीछे के हिस्से में गुमटियों के द्वारा किए गए कब्जे को हटाया। निगम ने बुलडोजर की मदद से इन गुमटियों को तोड़ा। उसके बाद निगम की टीम कुमार खाड़ी श्मशान घाट पहुंची।

must read : VIDEO : स्कूली छात्राओं से भरा ऑटो पलटा, रिक्शा में फंसी बच्चियों ने चिल्ला-चिल्लाकर मांगी मदद, मची चीख-पुकार

श्मशान घाट के मुख्य द्वार पर लगाकर निगम की जमीन पर कब्जा किया गया था यहां पत्रे लगाकर श्मशान घाट के मुख्य द्वार और बाणगंगा उज्जैन रोड मुख्य रोड के बीच की लगभग 300 लंबी जमीन पर कब्जा किया गया था जो निगम ने खाली कराया हालांकि इस दौरान कब्जे धारी विरोध करने भी पहुंचे कब्जे करने वालों की ओर से यहां आई दो महिलाओं ने आरोप लगाया कि निगम ने ना तो उनको अपना पक्ष रखने का मौका दिया और ना ही कोई नोटिस जारी किया था इसके बाद निगम ने बाणगंगा नाका पर कार्रवाई की। यहां नगर निगम की एंट्री टैक्स वसूली नाके की बिल्डिंग पर कब्जा करते हुए एक सहकारी संस्था चल रही थी पुलिस की मदद से संस्था में मौजूद कर्मचारियों को बाहर करने के बाद निगम ने इस पर कब्जा लिया।

रीना शर्मा
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned