अवैध हथियार बेचने वाले सिकलीगर सहित 4 गिरफ्तार... चार देशी कट्टे किये जब्त

अवैध हथियार बेचने वाले सिकलीगर सहित 4 गिरफ्तार... चार देशी कट्टे किये जब्त

Arjun Richhariya | Publish: Mar, 14 2018 09:10:30 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

डांस टीचर ने रौब झाडऩे के लिए खरीद लिए देशी कट्टे-पिस्टल

इंदौर. पुलिस ने अवैध हथियार की खरीद-फरोख्त में लगे चार आरोपितों को पकड़ा है। गंधवानी के सिकलीगर सहित चार आरोपितों को पुलिस ने पकड़ा। एक आरोपित डांस टीचर है और उसने रौब झाडऩे के लिए सिकलीगर से देशी कट्टे व पिस्टल खरीद ली थी। अन्य दो आरोपित बदमाशों को हथियार बेचकर मुनाफा कमा रहे थे।


धार जिले के कई सिकलीगर शहर के साथ ही आसपास के जिलों में बदमाशों को हथियार बेच रहे हैं। एएसपी अमरेंद्रसिंह के मुताबिक सूचना के आधार पर पुलिस ने महिपालसिंह सिकलीगर निवासी गंधवानी धार को पकड़ा। पंढरीनाथ पुलिस के सहयोग से पकडऩे के बाद तलाशी में आरोपित से चार 12 बोर के देशी कट्टे, दो 32 बोर की पिस्टल व एक जिंदा कारतूस जब्त किया।

आरोपित व उसके साथी सिकलीगर इंदौर के साथ ही उज्जैन व महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, यूपी में हथियार सप्लाय करते आए है। महिलापाल से पूछताछ में कई लोगों के हथियार खरीदने के मामले में नाम सामने आए। इस आधार पर सन्नी पिता देवराज चिरावड़े निवासी गाडी अड्डा को पकड़ा तो उसके पास से कई हथियार मिले हैं। आरोपित नगर निगम कर्मचारी है और साथ ही स्कूल में डांस सिखाने का काम करता है।


बदमाशों को बेचते थे...
सिकलीगर से गौरव पिता महेश सेन निवासी कोदरिया को पकड़ा। उसके पास से एक 32 बोर का कट्टा, एक 12 बोर का कट्टा व एक 32 बोर की पिस्टल व जिंदा कारतूस बरामद हुआ।

आरोपित ड्राइवर है और हथियार खरीदकर उसे ज्यादा रेट में बदमाशों को बेचने का काम करता था। इसी तरह ध्रुव पिता लाल मनोहर निवासी वैभव लक्ष्मी नगर को पकडक़र उसके पास से 315 बोर का कट्टा, 2 पिस्टल 32 बोर व जिंदा कारतूस जब्त किया।

 

नाइजीरियन महिलाओं को जेल से सुरक्षित उनके देश भेजें: कोर्ट
एक करोड़ के एयर टिकट घोटाले में एक साल से थीं बंद

इंदौर. करीब एक करोड़ रुपए के एयर टिकट घोटाले में लगभग एक साल से जेल में बंद दो नाइजीरियन महिलाओं को हाई कोर्ट ने रिहा करने के आदेश दिए हैं। जिन दो कंपनियों में पैसों के लेन-देन को लेकर केस दर्ज किया गया था उनके बीच आपसी समझौता होने पर कोर्ट ने दोनों महिलाओं के खिलाफ दर्ज रिपोर्ट खारिज कर दी। कोर्ट ने उन्हें नाइजीरिया एंबेसी से संपर्क कर सुरक्षित उनके देश भिजवाने के आदेश भी दिए हैं।


एडवोकेट अमरसिंह राठौर के मुताबिक दिसंबर 2016 में इंग्लैंड की एक फर्जी कंपनी ने इंदौर की जोस ट्रेवल्स कंपनी से 83 लोगों के टिकट बुक कराए थे। करीब एक करोड़ रुपए के टिकटों पर सफर के बाद कंपनी को पैसे नहीं चुकाकर धोखाधड़ी की गई थी।

मामले में इंदौर क्राइम ब्रांच ने अन्य लोगों के साथ ही नाइजीरिया की मुईनात एदेनिक और उसकी बेटी साईदात फोलाके को दिल्ली के एम्स अस्पताल से गिरफ्तार किया था। अप्रैल में हाइ कोर्ट से दोनों को 10 लाख रुपए में जमानत मिल गई थी, लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर होने से वे जेल में ही बंद थीं।

राठौर के माध्यम से दोनों ने हाइ कोर्ट में एफआईआर खत्म करने की याचिका दायर की थी। इनका कहना था, जिन दो कंपनियों के बीच पैसों के लेन-देन का विवाद है उसमें समझौता हो गया है, इसलिए उन्हें छोड़ा जाए। कोर्ट ने तर्क सुनने के बाद दोनो को रिहा करने के आदेश दिए हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned