क्रिसेंट और इंडेक्स मामले में पुलिस की सुस्ती से खफा परिजन

क्रिसेंट और इंडेक्स मामले में पुलिस की सुस्ती से खफा परिजन

Arjun Richhariya | Updated: 25 Jun 2018, 04:11:17 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

क्रिसेंट और इंडेक्स मामले में पुलिस की सुस्ती से खफा परिजन

इंदौर. खुड़ैल पुलिस 2 चर्चित मामलों में अब तक किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच पाई है। एक माह पूर्व क्रिसेंट रिसोर्ट के स्विमिंग पूल में मासूम के डूबने के मामले में जांच अब तक जारी है।

वहीं इस घटना के 21 दिन बाद इंडेक्स मेडिकल कॉलेज के होस्टल में पीजी की छात्रा के खुदकुशी का मामला सामने आ चुका है। दोनों ही मामले में पुलिस ने कई लोगों के बयान लिए हैं, लेकिन दोषी कौन है, इसका पता जांच कर रहे अधिकारी को भी नहीं है। दोनों मामलों में खाली हाथ पुलिस से परिजन नाराज हैं।

केस- 1
19 मई को क्रिसेंट वाटर पार्क के रिसोर्ट के स्विमिंग पूल में स्वयं (9) पिता सचिन मंदवानी की पानी में डूबने से मौत हो गई थी। घटना के 2 दिन बाद पत्रिका ने क्रिसेंट के स्विमिंग पूल में बच्चों के बगैर सुरक्षा के नहाने के संबंध में खबर प्रकाशित की। तब खुड़ैल टीआई हाकमसिंह पंवार भी टीम के साथ घटना के संबंध में जांच करने पहुंचे थे। जांच के दौरान पूल में परिवार के साथ बच्चे भी नहाते दिखे।

वहां कोई सुरक्षा व्यवस्था नहीं होने पर टीआइ ने प्रबंधन के कर्मचारी को लाइफ सेविंग जैकेट व ट्यूब पूल में डालने को कहा। इसके बाद टीम ने घटना के वक्त ड्यूटी पर तैनात रिसोर्ट कर्मचारियों के बयान भी लिए। बयान में कर्मचारियों ने बताया था कि घटना के वक्त परिवार के कुछ सदस्य पूल में नहा रहे थे। उन्हें टॉवेल लेने के लिए भेजा था। तब मासूम के दादा प्रहलाद मंदवानी ने भी प्रबंधन की लापरवाही का आरोप लगाया था।

यहां तक पहुंची जांच
टीआइ हाकम सिंह ने बताया, हाल में बच्चे के पिता सचिन, मां व फूफा के बयान लिए हैं। उसके आधार पर जांच चल रही है। घटना के कुछ फुटेज भी हंै। किसी निष्कर्ष पर पहुंचने के बाद मामले में दोषी के खिलाफ कार्रवाई
की जाएगी।

केस- 2
इंडेक्स कॉलेज के एनेस्थिसिया विभाग से पीजी कर रही स्मृति पिता किशोर कुमार लहरपुरे की खुदकुशी मामले में भी पुलिस की जांच जारी है। छात्रा का सुसाइड नोट पुलिस जब्त कर चुकी है। जिला हॉस्पिटल पीएम करवाने पहुंचे पिता व साथी छात्रों ने कॉलेज प्रोफेसर खान द्वारा परेशान करने व प्रबंधन की मनमानी फीस वृद्धि की बात उजागर की थी। जांच के दौरान सुसाइड नोट के कुछ पन्ने सोशल मीडिया में वायरल हुए। मामले में 12 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस पता नहीं लगा पाई कि खुदकुशी के लिए कौन जिम्मेदार है।

पिता बोले- यह हत्या है: बैंक प्रबंधक पिता किशोर कुमार ने पत्रिका से चर्चा में कहा, पुलिस को बयान में बता चुके हैं कि उनकी बेटी ने आत्महत्या नहीं की, उसकी हत्या हुई है। उनका आरोप है कॉलेज प्रबंधन ने बेटी के एडमिशन के समय 4 लाख रुपए लिए, लेकिन कोई रसीद नहीं दी। प्रबंधन ने उनसे 4 ब्लैंक चेक भी लिए, जो अब तक वापस नहीं किए। पुलिस पूरे मामले में अब तक चुप बैठी है।

जांच जारी है
टीआइ पंवार ने बताया, इंडेक्स कॉलेज के 15 से अधिक लोगों के बयान ले चुके हैं। कॉलेज से पीजी कर रहे मृतका के साथी छात्रों के भी बयान लिए है। छात्रा के पिता के बयान हाल में हुए है। जांच जारी है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned