PAYTM पर मिलने वाला हजारों का कैशबेक ऐसे हड़प रहा था शोरूम का कर्मचारी, आप भी रहें सतर्क

PAYTM पर मिलने वाला हजारों का कैशबेक ऐसे हड़प रहा था शोरूम का कर्मचारी, आप भी रहें सतर्क

Pramod Mishra | Publish: Sep, 03 2018 07:24:23 PM (IST) | Updated: Sep, 04 2018 01:42:12 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

साइबर सेल की कार्रवाई

इंदौर. गाड़ी खरीदने पर पेटीएम के जरिए भुगतान करने पर मिलने वाले केशबैक को शोरूम का कर्मचारी ही हड़प लेता था। एक ग्राहक की शिकायत पर साइबर सेल ने कर्मचारी को गिरफ्तार किया है।

साइबर सेल में विजय पंवार ने उसके पेटीएम वालेट से 4 हजार रुपए निकाले जाने को लेकर शिकायत की थी। साइबर सेल ने मामले में चोरी व आईटी एक्ट की धाराओं में केस दर्ज किया। जांच के बाद अरुण पिता गजाधर पटेल मूल निवासी सतना हाल मुकाम विजयनगर को गिरफ्तार किया है। फरियादी ने भमोरी स्थित टू व्हीलर शोरूम से गाड़ी खरीदी थी। वहां पेटीएम से गाड़ी का भुगतान करने पर केशबैक का आफर था। फरियादी ने शोरूम के कर्मचारी अरुण से भुगतान के लिए पेटीएम वालेट अकाउंट बनाने के लिए कहा। अरुण ने फरियादी का पेटीएम वालेट अकाउंट अपने मोबाइल पर ही बना लिया था और उसके जरिए भुगतान कर दिया था। बाद में जब फरियादी के पेटीएम वालेट में 4 हजार रुपए का केशबैक आया और निकाल लिया गया। जांच के दौरान पता चला कि पेटीएम वालेट आरोपी के मोबाइल में बना था और उसे पासवर्ड भी पता था। जब केशबैक की राशि आई तो आरोपी ने फरियादी के वालेट से उसे अपने वालेट में ट्रांसफर कर ली थी। पकड़ाने पर पता चला कि वह इसके पहले एक महिला ग्राहक के साथ भी ऐसा कर चुका है। महिला को पता चल गया तो उसने शिकायत से बचने के लिए उसे राशि लौटा दी थी। टीआई रशिद अहमद, एसआई रानी चौहान, प्रधान आरक्षक रामपाल, रामप्रकाश की टीम ने आरोपी को पकडऩे में सफलता हासिल की। पुलिस अन्य ग्राहकों के साथ हुई ठगी के मामले में पूछताछ कर रही है।

किसी पर विश्वास न करें

ऑनलाइन भुगतान के लिए वालेट डाउनलोड करने व उसका पासवर्ड दूसरे व्यक्ति से दर्ज कराने में स्थिति में धोखाधड़ी हो सकती है। साइबर सेल ने लोगों से अपील की है कि वे अपना वालेट को खुद डाउनलोड करें और किसी को उसका पासवर्ड न बताएं।

Ad Block is Banned