टाउनशिप सुपरवाइजर के घर हथियारबंद बदमाशों ने डाली डकैती, चाकू दिखा कर सिर पर मारे डंडे

टाउनशिप सुपरवाइजर के घर हथियारबंद बदमाशों ने डाली डकैती, चाकू दिखा कर सिर पर मारे डंडे

Krishnapal Singh Chauhan | Publish: Sep, 16 2018 04:02:03 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

गांधीनगर थाना क्षेत्र का मामला, बदमाश मजदूर के रूप में पहुंचे और सरजी आवाज लगा कर खुलवाया दरवाजा, जिस दिन तनख्वाह बांटने के लिए केस मिलता उस दिन हुई वारदात,

 

थाना क्षेत्र के पालियाखेड़ी में रहने वाले टाउनशिप सुपरवाइजर के घर देररात हथियारबंद बदमाशों ने डकैती डालने पहुंचे। शातिर बदमाशों ने सुपरवाइजर को सरजी कह कर आवाज लगाई। विश्वास में आकर उन्होंने दरवाजा खोला तो बदमाश उन्हें चाकू दिखा कर धमकाने लगे। उन्होंने विरोध किया तो बदमाश धक्का देकर घर में घुसे और उनके सिर पर डंडे से कई वार कर दिए। घटना से उनकी पत्नी और बेटा घबरा गया। चोट अधिक लगने से वे मौके पर घायल हो गए। इसके बाद बदमाशों ने पत्नी और बच्चे को बंधक बना लिया। सभी घर में रखे केस व जेवरात अपने साथ ले गए। परिवार किसी से मदद नहीं मांगे इसलिए बदमाश जाते वक्त अपने साथ उनका मोबाइल लेकर भागे। एक घंटे बाद परिवार ने डॉयल १०० पर सूचना दी, तब कहीं जाकर इलाके में पुलिस सक्रिय हुई। मामले की गंभीरता को समझते हुए अधिकारी भी घटनास्थल पर जांच करने पहुंचे।

एसपी सिध्दार्थ बहुगुणा के मुताबिक फरियादी रामअवतार महाजन (४५) निवासी पालियाखेड़ी की शिकायत पर अज्ञात नकाबपोश बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज किया है। घटना के संबंध में रामअवतार ने बताया की वे रात में परिवार के साथ खाना खाने के बाद टीवी देख रहे थे। रात करीब साढ़े ग्यारह बजे उनके घर के बाहर आधा दर्जन नकाबपोश बदमाश पहुंचे। सभी घर के बाहर खड़े होकर उन्हें सर- सर कहकर बुलाने लगे। उन्हें लगा की टाउनशिप का कोई मजदूर उन्हें पुकार रहा है। उन्होंने जैसे ही दरवाजा खोला तीन से अधिक नकाबपोश बदमाश ने उनके सिर पर डंडे से हमला कर दिया। कुछ बदमाश के हाथ में चाकू भी था। सभी उनके घर में घुस आए और धमकी देते हुए मारपीट करने लगे। हमले में वे मौके पर घायल हो गए। हमले के वक्त उनकी पत्नी और १६ वर्षीय बेटा घर के दूसरे कमरे से भाग कर वहां पहुंचे। वे बीचबचाव करने लगे तो बदमाश उन्हें जान से मारने की धमकी देने लगे। बदमाश परिवार से ३० हजार केस, जेवरात व दो से अधिक मोबाइल छीनकर ले गए। हमले में घायल रामअवतार देर तक बेसुध पड़े रहे। बदमाश फिर हमला न करे इसलिए उनकी पत्नी और बेटे ने घर का दरवाजा लगा लिया। करीब एक घंटे बाद परिवार हिम्मत जुटा कर घर से बाहर निकला। घर से कुछ दूरी पर रहने वाले एक मजदूर के मोबाइल लेकर डॉयल १०० पर सूचना दी। मौके पर पहुंचे अधिकारी ने सुपरवाइजर को उपचार के लिए अरविंदो हॉस्पिटल पहुंचाया। तब वे कहने लगे की उनकी किसी से रंजिश नहीं है। वे कई सालों से यहां पर रहते है।

पगार बांटने की जानकारी बदमाशों को होगी

सूचना के बाद एसपी बहुगुणा, एएसपी मनीष खत्री सहित कई अधिकारी देररात मौके पर पहुंचे। उन्होंने खून से लथपथ सुपरवाइजर से बात की तो पता चला की वे टाउनशिप में सुपरवाइजर है। ५० मजदूर उनके अंडर में काम करते है। हर शुक्रवार टाउनशिप प्रबंधन उन्हें मजदूरों को रुपए बांटने के लिए मोटा केस देती है। घटना शुक्रवार रात हुई है। सुपरवाइजर ने बताया की हालांकि वे दिन में कई मजदूरों को पगार बांट चुके थे। अधिकारियों को संदेह है की वारदात कर भागे बदमाशों को इस बात की जानकारी होगी। उन्होंने सुपरवाइजर के अंडर में काम करने वाले मजदूरों से जुडे लोगों पर भी संदेह जताया है।

पीले रंग की शर्ट पहना था हमलावर, बोलेरो कार से आना बताया
अधिकारियों को पूछताछ में पता चला है की हमलावर बदमाश में से एक ने पीले रंग की शर्ट पहनी थी। कुछ ने मुंह पर कपड़े बांधा रखे थे। घटना के बाद बदमाशों के बोलेरो कार से भागने की बात सामने आई है। पकड़े जाने के डर से उनके द्वारा लूटे गए मोबाइल को घटनास्थल से महज ५०० मीटर की दूरी पर बंद किए है। इस बात का पता चलते ही अधिकारियों ने लूटे गए मोबाइल की तलाश शुरू करवा दी है। सभी को ट्रेसिंग पर लगाए है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned