बीएड के लिए नहीं बन पाई सहमति

ओपन बुक या आंतरिक मूल्यांकन : शासन के निर्देश पर बन सकता है रिजल्ट

By: रमेश वैद्य

Published: 10 Jun 2021, 02:00 AM IST

इंदौर. बीएड करने वालों के सामने अब परीक्षा को लेकर बड़ी चुनौती खड़ी हुई है। यूनिवर्सिटी प्रबंधन तय नहीं कर पा रहा कि इन विद्यार्थियों का रिजल्ट किस आधार पर तैयार किया जाए। गत दिवस हुई कमेटी की बैठक में तमाम पहलूओं पर चर्चा हुई, लेकिन सदस्य किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सके।
कोरोना संक्रमण ने पढ़ाई से लेकर परीक्षा तक को बुरी तरह प्रभावित किया हुआ है। अब मुश्किल में बीएड पहले सेमेस्टर के वे छात्र-छात्राएं हैं, जिन्होंने पिछले सत्र में दाखिला लिया था। अब तक ये विद्यार्थी पहला सेमेस्टर निपटा चुके होते, लेकिन कोरोना के कारण परीक्षा ही नहीं हो सकी।
अब यूनिवर्सिटी प्रबंधन ये तय करने में लगा है कि इनकी परीक्षा कराई जाएं या नहीं? बैठक में ओपन बुक परीक्षा कराने पर जब विचार हुआ, तो परीक्षा और मूल्यांकन में लगने वाले समय के कारण इसे टाल दिया गया। जबकि, कुछ सदस्य आंतरिक अंकों के आधार पर रिजल्ट तैयार करने के पक्ष में नहीं हैं। उनका तर्क है, जब विद्यार्थियों ने पढ़ाई की है, तो परीक्षा भी देना चाहिए। दोनों पहलूओं पर विचार करने के बाद किसी पर भी अंतिम सहमति नही बन सकी।
बीएड का असमंजस अब शासन के निर्देश पर खत्म होने की उम्मीद है। दरअसल, कोरोना को देखते हुए इस बार भी कई कोर्स की परीक्षा न कराते हुए आंतरिक अंकों के आधार पर रिजल्ट जारी करने के लिए कहा गया है। विद्यार्थी भी समय रहते कोर्स पूरा करने के लिए इसी पक्ष में है। परीक्षा नियंत्रक प्रो.अशेष तिवारी ने बताया कि बीएड के संबंध में बैठक हो चुकी है। एक-दो दिन में निर्णय ले लिया जाएगा।
कॉपी जमा कराने पर मिलेगी रसीद, स्पीड पोस्ट की अनुमति, कोरियर अमान्य
इंदौर. देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी ने ओपन बुक परीक्षा की विस्तृत गाइडलाइन जारी कर दी है। इस परीक्षा की कॉपियां जमा कराने पर केंद्र से एक रसीद दी जाएगी। केंद्र पर जमा कराने के साथ डाक से कॉपी भेजने का भी विकल्प दिया जा रहा है। हालांकि, कोरियर से भेजी कॉपी स्वीकार नहीं की जाएगी।
यूजी फाइनल की ओपन बुक परीक्षा 15 जून से शुरू होगी, आवेदन की प्रक्रिया लॉकडाउन से पहले ही पूरी हो चुकी है। पूर्व में ये परीक्षा ऑफलाइन मोड से कराई जा रही थी मगर, अचानक से संक्रमण के केस बढऩे पर पहले परीक्षा स्थगित हुई और फिर निरस्त करना पड़ी। अब फाइनल की सभी परीक्षा ओपन बुक प्रणाली से ही कराई जा रही है। हाल ही टाइम-टेबल जारी करने के बाद यूनिवर्सिटी ने गाइडलाइन जारी कर दी है। विद्यार्थियों को वेबसाइट से पेपर डाउनलोड करने के बाद ए फोर साइज पेपर या रजिस्टर के पेपर पर खुद जवाब लिखना होंगे। अधिकतम पृष्ठसंख्या १६ रहेगी। हर कॉपी पर एडमिट कार्ड की फोटोकॉपी लगाना जरूरी है। ये कॉपी अंतिम तिथि तक कलेक्शन सेंटर पर जमा करना है। जो छात्र केंद्र जाकर कॉपी जमा नहीं करा सकते वे स्पीड पोस्ट/रजिस्टर पोस्ट से कॉपी भेज सकेंगे। कोरियर से किसी की भी कॉपी स्वीकार नहीं की जाएगी। केंद्र पर कॉपी जमा कराने वालों को रसीद मिलेगी।

रमेश वैद्य Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned