अतिरिक्त समय लेने के लिए छात्र ने अपने आप को ब्लाइंट बताया, नंबर कम मिलने पर लगाया आरोप

- सीईटी में गड़बड़ी को लेकर विवि पर प्रदर्शन , छात्र ने आवेदन में दी थी गलत जानकारी

 

By: विकास मिश्रा

Published: 07 Jun 2018, 09:59 PM IST

इंदौर. सीईटी के परीणाम में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए एबीवीपी के छात्र नेताओं ने देवी अहिल्या विश्वविद्यालय पर कुलपति का घेराव कर जमकर हंगामा किया। जांच में छात्र द्वारा अतिरिक्त समय लेने के लिए अपने आप को ब्लाइंड बताया था। विवि ने अतिरिक्त समय में किए गए प्रश्रों के नंबर कम कर दिए है।

गुरुवार को एबीवीपी के प्रांत सहमंत्री शुभेंद्र गौड़ के नेतृत्व में छात्र नेताओं ने आरएनटी मार्ग स्थित विश्वविद्यालय परिसर पहुंचकर जमकर नारेबाजी की और हंगामा किया। उन्होंने कुलपति डॉ नरेंद्र धाकड़ का घेराव किया। छात्र नेताओं ने मांग की कि सीईटी के परीणाम में गड़बड़ी हुई है। सौरभ अपूर्व गुप्ता को परीणाम में २५ नंबर कम मिले है। जबकि मॉडल आंसरशीट से जवाब का मिलान करने पर उसे अधिक नंबर मिलना थे। छात्र के मुताबिक उसे १०१ नंबर मिलना थे लेकिन परीणाम में उसे ७६ नंबर ही मिले है। प्रदर्शन कर रहे छात्र नेताओं को कुलपति ने कहा कि आपत्ति के लिए ५ जून तक का समय दिया गया था। काफी देर विवाद और हंगामा चलता रहा। कार्यपरिषद सदस्य आलोक डावर भी पहुंचे और उन्होंने कुलपति से जांच करने की बात कहीं। सीईटी कमेटी को मामला भेजकर जांच करने को कहा गया। जांच में अधिकारियों ने पाया कि छात्र ने आवेदन में अपने आप को ब्लाइंड बताया था । सौरभ ने ९० मिनट के पेपर के लिए १२० मिनट का समय लिया था। बाद में विवि प्र्रशासन ने सौरभ से दृष्टिबाधित होने का प्रमाण पत्र मांगा। जो छात्र दे नहीं पाया। इसके चलते ९० मिनट में किए गए प्रश्रों को ही जांचा गया। उसके आधार पर ही छात्र को ७६ अंक दिए गए थे। कुलपति ने बताया कि टोटलिंग में कोई गलती नहीं हुई है। छात्र ने ही आवेदन में गलत जानकारी दी थी। अतिरिक्त समय के हिसाब से नंबर नहीं दिए गए है। सीईटी कमेटी चेयरमेन डॉ. अनिल कुमार गर्ग ने बताया कि कई छात्रों ने ब्लाइंड होना बताया था और जो सर्टिफिकेट नहीं दे पाए उनके नंबर ९० मिनट के हिसाब से ही दिए गए है।

विकास मिश्रा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned