कानूनी पेंच में उलझा मनी सेंटर का मलबा, लोग काट ले जा रहे सरिया

कानूनी पेंच में उलझा मनी सेंटर का मलबा, लोग काट ले जा रहे सरिया

Reena Sharma | Updated: 11 Jul 2019, 12:38:51 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

4 माह पूर्व तोड़ा गया था : आइडीए और नगर निगम अफसर झाड़ रहे पल्ला

इंदौर. रणजीत हनुमान रोड स्थित विवादित बिल्डिंग मनी सेंटर का मलबा कानूनी पेंच में उलझ गया है। निगम व आइडीए दोनों ही मलबा उठाने से पीछे हट रहे है। निगम का कहना है, हमारा काम अवैध या खतरनाक भवन गिराने का है, मलबा उठाना मालिक या कब्जाधारी की जिम्मेदारी है। वहीं आईडीए अफसर कह रहे हैं, हमें तो खाली प्लॉट पर कब्जा लेना है, मलबा उठाना नहीं।

 

indore

दोनों के बीच जिम्मेदारी तय नहीं होने से लावारिस पड़े मलबे को लेकर लोगों की पौ बाहर हो गई है। लोग झुंड में जाकर मलबे से लोहे के तार व अन्य सामान निकालकर ले जा रहे हैं। चार माह पूर्व आईडीए के प्लॉट पर बने दो मंजिला मनी सेंटर को अवैध होने पर गिरा दिया था। आइडीए के हॉस्पिटल व मेडिकल उपयोग के प्लॉट पर व्यावसायिक भवन बना कर दुकानें बेच दी गईं थी। लीज शर्तों का उल्लंघन पाया गया। आइडीए ने लीज निरस्त कर दी। काफी दिनों तक मामला कोर्ट में चलने के बाद बेदखली के आदेश हुए और आइडीए ने कब्जा लिया।

आइडीए ने शिकायत की तो निगम ने इसे गिरा दिया, तब से मलबा यहां पड़ा है। सूत्रों के अनुसार दोनों संस्थानों के मुखियाओं को जब इसकी शिकायत की गई तो दोनों ही मलबे पर अपना हक नहीं होने का तर्क दे रहे हैं, क्योंकि मलबा उठाने के लिए दोनों को टेंडर निकालना होंगे। वर्क आर्डर जारी कर मलबा हटवाना होगा। प्लॉट मालिक ने संभागायुक्त में अपील कर रखी है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned