‘टेक ऑफ’ नहीं हो रही स्मार्ट कार्ड मशीनें

कैसे दुरुस्त हो व्यवस्था

लवीन ओव्हाल@ इंदौर. देवी अहिल्या विमानतल पर 7 मिनट फ्री पार्किंग को लेकर अब भी विवाद जारी है। विवादों से निपटने के लिए एयरपोर्ट प्रबंधन ने स्मार्ट कार्ड मशीनें शुरू करने का निर्णय लिया, लेकिन मशीन शुरू नहीं कर सके। एयरपोर्ट परिसर में 5 लाख रुपए की मशीनें एक माह से धूल खा रही हैं। पार्किंग स्टाफ को इस मशीन के संचालन की ट्रेनिंग भी दी गई, लेकिन बात इससे आगे नहीं बढ़ी।

नए सिस्टम के तहत एयरपोर्ट के गेट पर लगी मशीन का बटन दबाते ही ऑटोमैटिक तरीके से एक स्मार्ट कार्ड वाहन चालक को मिलेगा, जिसमें वाहन के नंबर के साथ प्रवेश का समय भी दर्ज रहेगा। उक्त कार्ड को एयरपोर्ट से बाहर निकलते समय पार्किंग स्टाफ द्वारा एक मशीन में स्वाइप कराकर प्रवेश का समय देखा जाएगा। यदि वाहन ७ मिनट के भीतर एग्जिट पॉइंट पर पहुंच गया तो उससे पिक एंड ड्रॉप सुविधा के तहत ५५ रुपए पार्किंग शुल्क नहीं वसूला जाएगा।

सिस्टम तैयार, अनुमति का इंतजार
पहले इसे 25 अक्टूबर को एएआई के चेयरमैन गुरुप्रसाद महापात्रा के हाथों शुरू करवाने की चर्चा थी, लेकिन अचानक ही इसे निरस्त कर आगे बढ़ा दिया। फिलहाल पर्ची के जरिए ही पार्किंग शुल्क की वसूली की जा रही है।

इस तरीके से काम करेगा स्मार्ट कार्ड सिस्टम
चालक को बूम बैरियर से पहले लगी स्मार्ट कार्ड मशीन का बटन दबाकर स्मार्ट कार्ड लेना होगा। कार्ड निकलते ही बूम बैरियर खुलेगा। बाहर जाते वक्तएग्जिट पॉइंट पर बने बूथ में स्मार्ट कार्ड स्वैप करने पर शुल्क की रसीद मिलेगी। सात मिनट के अंदर कोई शुल्क नहीं लगेगा।
समय की गणना कार्ड में लगे जीपीएस से ही होगी, जिसमें गड़बड़ी संभव नहीं है। सात मिनट से ज्यादा समय लगा होगा तो वाहन के हिसाब से शुल्क की पर्ची निकलेगी।

सुविधा जल्द शुरू होगी
&स्मार्ट कार्ड पार्किंग सुविधा को लेकर हमारी तैयारियां पूरी हैं। कुछ व्यवस्था संबंधित कारणों से इस सुविधा को फिलहाल शुरू नहीं कर पाए हैं। जल्द ही यह सुविधा यात्रियों के लिए शुरू की जाएगी।
आर्यमा सान्याल, एयरपोर्ट डायरेक्टर

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned