जिला जेल के चक्कर अफसर चौरसिया को किया क्वॉरंटीन सेंटर

अविलंब सेट्रल जेल अधीक्षक को रिपोर्ट देने के आदेश

By: Manish Yadav

Published: 01 Aug 2020, 11:41 AM IST

इंदौर. विवादों में घिरे जिला जेल के चक्कर अफसर मनोज चौरसिया को क्वॉरंटीन सेंटर भेज दिया गया है। बताया जाता है कि उन्हें अविलंब सेंट्रल जेल अधीक्षक के सामने पेश होने के लिए कहा गया है। साथ ही मेडिकल वार्ड में भी फेरबदल किया है।
भूमाफिया चंपू अजमेरा के साथ चौरसिया का विवाद हो गया था। उसके पास से सामान मिला था। जेल अफसर दवाइयां बता रहे हैं, लेकिन सूत्रों की मानें तो कुछ और भी उसके पास था। इस विवाद के बाद से अफसर नाराज चल रहे हैं। मामला भोपाल जेल मुख्यालय तक पहुंचा। अंदर सामान कैसे आया। सामान आने के कई दिनों बाद उसका पकड़ा जाना। इस तरह कई सवाल सामने आ रहे हैं। कल एक आदेश जेल मुख्यालय से जारी हुआ। उसके तहत असरावद स्थित जेल के क्वॉरंटीन सेंटर पर भेजा है। अविलंब सेंट्रल जेल अधीक्षक के सामने पेश होकर नया चार्ज लेने को कहा है। साथ ही मेडिकल स्टाफ और प्रधान आरक्षक को हटाया गया है। एक कंपाउडंर को वहां से हटाकर सेंट्रल जेल अटैच किया गया। अब सेंट्रल जेल से कंपाउडंर को वहां पर भेजा गया है। वहीं जिला जेल से भूमाफिया को भी सेंट्रल जेल में शिफ्ट करने को लेकर विचार चल रहा है। इस बारे में विधिक राय लेकर उन्हें सेंट्रल पर शिफ्ट किया जा सकता है। सेंट्रल जेल अधीक्षक राकेश भांगरे ने बताया कि कल रात को जारी आदेश में मनोज चौरसिया को क्वॉरंटीन सेंटर भेजा गया है। वहां से एक प्रहरी और मुख्य प्रहरी को सेंट्रल जेल व सेंट्रल जेल से दो लोगों को जिला जेल भेजा है। इसके साथ ही मेल नर्स को भी बदला है।

चंपू का होगा मेडिकल
चंपू के साथ मारपीट किए जाने के भी आरोप लगे हैं। इसके चलते जेल अफसरों ने उसका मेडिकल भी कराने का आदेश दिया है। आज उसका मेडिकल होना है, ताकि उसको लगी हुई चोट के बारे में पता चल सके। वहीं उसने जो दूसरी परेशानी बताई है। उसकी भी जांच हो जाए।

Show More
Manish Yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned