डॉक्टर के घर में घुस भतीजी के गले पर किए चाकू से पांच वार

उसे 80 टांके आए हैं तथा स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है ...

इंदौर. साजन नगर में शनिवार रात मिनेश हॉस्पिटल की दूसरी मंजिल पर लूट की नीयत से घुसे बदमाश ने राजश्री (37) पिता मान सिंह वर्मा के गले पर चाकू से पांच वार कर घायल कर दिया। लहूलुहान राजश्री ने हिम्मत न हारी और घाव को हाथों से दबाकर दूधिया स्थित चाचा के एनर्जी हॉस्पिटल में फोन किया। उसे 80 टांके आए हैं तथा स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है।

हॉस्पिटल के एडमिन ऑफिसर महेंद्र मीणा ने बताया, शनिवार रात 11.30 बजे कर्मचारी गोलू पटेल रोज की तरह डॉ. रवि वर्मा के घर एनर्जी हॉस्पिटल का कलेक्शन देने गया था। उनके जाने के बाद 11.45 बजे घर की दूसरी मंजिल पर स्थित कमरे का दरवाजा किसी ने खटखटाया। बेडरूम में राजश्री और उनकी 103 वर्ष की दादी पार्वती सो रही थीं। राजश्री ने जैसे ही दरवाजा खोला, मुंह पर रूमाल बांधे बदमाश ने उन्हें पलंग पर पटका और चाकू से गर्दन पर पांच वार किए। दर्द से तड़प रही राजश्री बुजुर्ग दादी से टकराईं। उन्होंने शोर मचाया तो बदमाश वहां से भाग निकला। घटना स्थल पर पुलिस ने कई घंटे जांच की। बदमाश के हाथों के प्रिंट रैलिंग पर मिले हैं, जहां से वह कूदकर भागा है।
संयोगितागंज थाना क्षेत्र में शनिवार देर रात उस वक्त सनसनी फैल गई, जब एक डॉक्टर के घर में लूट की नीयत से घुसे बदमाश ने उनकी भतीजी का धारदार हथियार से गला रेत दिया। घर के जिस कमरे में बदमाश घुसा था, वहां डॉक्टर की वृद्ध मां भी सो रही थी। उन्होंने बदमाश का विरोध करते हुए शोर मचाया तो वह गैलरी से कूदकर भाग निकला। गंभीर रूप से घायल भतीजी ने जैसे-तैसे घर के फोन से उसके चाचा के हॉस्पिटल प्रबंधन को सूचना देकर बुलाया। एंबुलेंस से घायल को हॉस्पिटल ले जाया गया। घटना के बाद से डॉक्टर का परिवार सहमा हुआ है। उन्होंने पुलिस से किसी से रंजिश न होने की बात कही है।

घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची एफएसएल टीम ने बेड पर खून से लथपथ गद्दे, फर्श पर फैले खून, दरवाजा की चटकनी, फोन, लाइट बटन व कई वस्तुओं को जांच में शामिल किया। दूसरी मंजिल पर बदमाश के खून से सने हाथ का प्रिंट रेलिंग पर छपे मिले है। घर मुख्य मार्ग पर है। बदमाश घटना के बाद गैलरी के रास्ते भागा था। बदमाश के खून से सने हाथ का प्रिंट रेलिंग पर छपे मिले हैं। सूचना के बाद सीएसपी एसकेएस तोमर, टीआई मंजू यादव टीम के साथ पहुंची और जांच में जुट गई। पुलिस की मानें तो बदमाश हॉस्पिटल का पेंमेंट लूटने की नियत से घर में घुसा होगा, लेकिन रुपए घर में ही मिले।

घायल राजश्री ने फोन कर दी घटना की सूचना
साजन नगर स्थित मकान नंबर छह पर बने मिनेश हॉस्पिटल की दूसरी मंजिल पर रहने वाली राजश्री (37) पिता मान सिंह वर्मा पर बदमाश ने लूट के मकसद से धारदार हथियार से हमला कर दिया। लहुलूहान राजश्री ने हिम्मत न हारते हुए गंभीर घाव को अपने हाथों से दबाकर दूधिया स्थित चाचा के एनर्जी हॉस्पिटल में फोन किया। हॉस्पिटल के एडमिन ऑफिसर महेंद्र मीणा ने बताया, शनिवार रात करीब 11.30 बजे हॉस्पिटल के कर्मचारी गोलू पटेल रोज की तरह डॉक्टर रवि के घर दूधिया, नेमावर रोड स्थित उनके एनर्जी हॉस्पिटल की सीलक देने पहुंचे थे। उनके जाने के कुछ देर बाद करीब 11.45 बजे घर की दूसरी मंजिल पर स्थित कमरे का दरवाजा किसी बदमाश ने खटखटाया।

बदमाश ने गर्दन पर किए पांच वार
राजश्री ने जैसे दरवाजा खोला मुंह पर रूमाल बांधे बदमाश ने उनका मुंह दबाकर पास स्थिल पलंग पर पटक दिया और धारदार हथियार से राजश्री की गर्दन पर पांच वार किए। दर्द से तड़प रही राजश्री 103 साल की दादी से टकराई। जब उन्होंने देखा तो बदमाश राजश्री का मुंह दबाए था। उन्होंने शोर मचाया तो वह भाग निकला।

बदमाश के हाथ के प्रिंट रैलिंग पर छपे मिले
राजश्री के चाचा डॉ. रवि ने बताया, वे अखेपुर गांव के हैं। बचपन से ही राजश्री उनके साथ रहती है। दूसरी मंजिल पर बदमाश के खून से सने हाथ का प्रिंट रेलिंग पर छपे मिले है।

पत्नी और बेटे थे डरे
पुलिस के मुताबिक घटना के वक्त डॉ. रवि की पत्नी को घर मे आहट सुनाई दी, जिसके बाद उन्होंने अपने कमरे का दरवाजा बंद कर दिया। घटना से डॉ. शीला और उनका बेटा डरे हुए हैं। पुलिस के मुताबिक घटना में दो बदमाश शामिल हो सकते हैं।

... इसलिए बच गई राजश्री की जान
डॉ. रवि ने बताया, भतीजी राजश्री के गर्दन पर घाव देख लग रहा था उसका बचना मुश्किल है, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। वे खुद उसकी सर्जरी में अपनी टीम के साथ जुट गए। बदमाश ने गर्दन को धारदार हथियार से बड़ी निर्ममता से रेता था। हथियार की रगड़ श्वास नली पर लगी थी, लेकिन वह कटी नहीं थी। इस वजह से राजश्री की सांसें चलती रहीं। यही वजह है कि ऑपरेशन के बाद वह खतरे से बाहर आ गई है। राजश्री को करीब 80 टांके लगे हैं। फिलहाल राजश्री को आईसीयू में रखा गया है।

हमलावर घायल का परिचित हो सकता है
सभी बिंदुआें पर जांच चल रही है। संदेही अस्पताल के पूर्व कर्मचारी दीपक जाट से पूछताछ की गई है। जांच में उसका फोन घटना के वक्त चितावद लोकेशन दिखा रहा है। प्रथम दृष्टया लग रहा है कि हमलावर घायल का परिचित हो सकता है।
- एसकेएस तोमर, सीएसपी

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned