scriptDoctor's report came positive, clinic sealed | डॉक्टर की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, पूरा क्लीनिक हुआ सील | Patrika News

डॉक्टर की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, पूरा क्लीनिक हुआ सील

सिमरोल स्थित नो मिल स्थित एक निजी क्लीनिक के डॉक्टर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद 7 दिन के लिए क्लीनिक बंद कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग के तीन दिन पहले ही डॉक्टर वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने के लिए फीवर क्लीनिक सिमरोल आए थे। जहां आरटीपीसीआर जांच की गई थी। जिसकी रिपोर्ट गुरुवार शाम को आई। इधर तहसील में लगातार संक्रमण दर बढ़ रही है। शुक्रवार को 49 नए संक्रमित मरीज सामने आए है। हालांकि सामान्य लक्षण होने पर इन मरीजों को होम आइसोलशन में ही रखा गया है।

इंदौर

Published: January 15, 2022 11:27:30 am

डॉ. आंबेडकर नगर(महू).

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ. शादाब खान ने बताया कि दो-तीन दिन पहले नो मिल स्थित निजी क्लीनिक के डॉक्टर दूसरा डोज लगवाने के लिए फीवर क्लीनिक पहुंचे थे। यहां डोज लगाने के पहले आरटीपीसीआर किया गया। जिसके रिपोर्ट गुरुवार शाम को आई। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर गाइडलाइन के अनुसार डॉक्टर को होम आइसोलेशन में भेज दिया है। वहंी क्लीनिक को 7 दिनों के लिए सील कर दिया है। डॉ. खान ने बताया कि उक्त क्लीनिक बिना किसी रजिस्ट्रेशन के संचालित हो रहा है। इस संबंध में बीएमओ के माध्यम से एसडीएम को अवगत कराया जाएगा, ताकि उक्त क्लीनिक पर कार्रवाई हो सके।
डॉक्टर की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, पूरा क्लीनिक हुआ सील
डॉक्टर की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, पूरा क्लीनिक हुआ सील
तहसील में निकले 49 नए मरीज

तहसील में शुक्रवार को 49 नए संक्रमित मरीज सामने आए है। इसके साथ 150 सक्रिय मरीज हो गए है। इनमें से 6 मानपुर और 23 सिमरोल में निकले है। स्वास्थ्य अफसरों अनुसार शुक्रवार को निकले सभी मरीजों को होम आइसोलशन में रखा गया है। कोविड केयर सेंटर में 6 मरीज भर्ती है।
आज स्कूलों में पूरा हो जाएगा वैक्सीनेशन

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार तहसील के 96 स्कूलों में 17 हजार से अधिक किशोरो को को वैक्सीन का पहला डोज लगाया जा चुका है। शनिवार को जिन स्कूलों में बच्चे शेष है, जिन्हें वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके बाद किशोरो का वैक्सीनेशन पुरा हो जाएगा। इधर तहसील में बने कोविड केयर सेंटर में वर्तमान में ६ ही मरीज भर्ती है। वहीं १५० मरीज घरों में रहकर ही ठीक हो रहे है। करीब ९५ फीसदी मरीज घर पर ही ठीक हो रहे है। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों की तो इस बार संक्रमण दर जरूर ज्यादा है। लेकिन दूसरी लहर के मुकाबले संक्रमण घातक नहीं है। अभी तक एक भी मरीज के ऑक्सीजन सचुरेशन में कमी नहीं आई है। सिर्फ सर्दी-खांसी और बुखार के लक्षण ही सामने आ रहे है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीइस एक्ट्रेस को किस करने पर घबरा जाते थे इमरान हाशमी, सीन के बात पूछते थे ये सवालजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहदुल्हन के लिबाज के साथ इलियाना डिक्रूज ने पहनी ऐसी चीज, जिसे देख सब हो गए हैरानकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.