क्यों हो रहा है 3 नंबर के हर वार्ड में गोपी नेमा का  सम्मान ?

समर्थकों ने बनाई रणनीति, पुरानी टीम को करेंगे इकट्ठा

By: Mohit Panchal

Published: 04 Sep 2018, 11:19 AM IST

इंदौर। 3 नंबर विधानसभा के हर वार्ड में पूर्व विधायक गोपीकृष्ण नेमा और उनकी टीम का सम्मान होगा। समर्थकों ने अपने आका को मजबूत करने की रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है। इस बहाने पुरानी टीम व कार्यकर्ताओं को भी जाग्रत किया जाएगा, जो तीन-चार साल से घर बैठे हुए हैं।

इंदौर भाजपा में सबसे ज्यादा राजनीतिक उठापटक किसी विधानसभा में रहती है तो वह है तीन नंबर। पूर्व विधायक गोपीकृष्ण नेमा के नगर भाजपा अध्यक्ष बनने के बाद एक बार फिर क्षेत्र की राजनीति गरमाई हुई है। तीन दशक से क्षेत्र में सक्रिय नेमा की टीम जाग्रत हो गई है।

वह चाहती है कि उनके आका नेमा एक बार फिर विधानसभा का प्रतिनिधित्व करें। क्षेत्र में पकड़ मजबूत बनाने और पुराने कार्यकर्ताओं को इकट्ठा करने का काम शुरू कर दिया गया है। नेमा के अध्यक्ष बनने व उनकी टीम के सम्मान समारोह का बताकर वार्ड स्तर पर सम्मेलन किए जा रहे हैं।

इसकी शुरुआत वार्ड ६१ (जबरन कॉलोनी) से हुई। दो दिन पहले रामबाग में भी सम्मान समारोह रखा गया था। सभी आयोजनों में भीड़ भी जुट रही है। इधर भोजन व्यवस्था भी की जा रही है। चर्चा के दौरान तीन नंबर को मजबूत करने के दावे व कसमें खाई व खिलाई जा रही हैं। वहीं दोनों ही आयोजन में विधायक उषा ठाकुर व उनकी टीम को नहीं बुलाया गया।

ब्रिज पर शुरू हुई राजनीति
विधायक उषा ठाकुर ने तीन नंबर को गाड़ी अड्डा आरओबी के रूप में बड़ी सौगाद दे दी। इसके साथ एक राजनीतिक दांव और खेला। योजना से पूर्व मंत्री प्रकाश सोनकर के बेटे विजय से ब्रिज का नाम अपने पिता के नाम रखने की मांग उठवाई। ऐसा कर तीन नंबर के खटीक समाज को साधने का प्रयास किया।

हालांकि आयोजन के दौरान बलाई समाज के प्रदेश अध्यक्ष मनोज परमार भी पहुंच गए थे। उन्होंने बालीनाथ महाराज के नाम का प्रस्ताव दिया। अब इसको लेकर अड़बाजी होगी, जिसका असर सांवेर विधानसभा पर भी पड़ेगा, क्योंकि वहां बड़ी संख्या में बलाई समाज का वोट बैंक भी है।

BJP
Mohit Panchal Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned