घरो की बालकनी को छू रहा करंट,रहवासियों की जान खतरे में

कॉलोनी में गली के कोने पर केवल एक ही खंभा है, जिस पर लाइन का पूरा दारोमदार है।

इंदौर. शहर में अब भी कई एेसी कॉलोनियां हैं, जहां लोग रोज खतरों के बीच जिंदगी बीता रहे हैं। लापरवाही का ऐसा ही एक मामला केदार नगर का है। छोटा बांगड़दा रोड की इस कॉलोनी के मेनरोड पर बिजली के तार तो हैं, परंतु तार को संभालने के लिए खंभे नहीं हैं। नतीजतन, कॉलोनी के घरों में कपड़े सुखाने वाले तार की जगह पर लटक रहे हैं बिजली के तार।
कॉलोनी में गली के कोने पर केवल एक ही खंभा है, जिस पर लाइन का पूरा दारोमदार है। बिजली की लाइन को आगे ले जाने की बाकी जद्दोजहद लोगों के जिम्मे है। इसके लिए सभी के घर की गैलरी, बालकनी व छत से बिजली के तार गुजर रहे हैं। तार लटककर टूट न जाएं, इसलिए घर की बालकनी से ही उसे सपोर्ट दिया है। इस कवायद में ये ध्यान रखना पड़ता है कि कभी किसी के साथ अनहोनी न हो। रहवासियों के मुताबिक, कुछ लोग तो घर से बिजली की लाइन सहजता से निकालने देते हैं, पर कुछ लोग खतरा बताकर राजी नहीं होते। जहां दिक्कत आती है, वहां वैकल्पिक उपाय करना पड़ता है, पर कॉलोनी को रोशन रखने के लिए रहवासी सारे खतरे मोल ले रहे हैं।

 

eletric current

‘हम तो केवल मीटर लगाएंगे’
चौंकाने वाली बात ये है कि कॉलोनी में जिसको भी नया कनेक्शन लेना हो, उसे खुद के जोखिम पर ही ये काम करवाना पड़ता है। मतलब, बिजली कंपनी कर्मचारी आकर कनेक्शन नहीं करते। काम निजी ठेकेदार से पैसे देकर करवाना पड़ता है, कंपनी कर्मचारी सिर्फ मीटर लगाकर चले जाते हैं।

केदार नगर एवं आसपास की कॉलोनियों को लेकर कई बार बिजली कंपनी को शिकायत कर चुके हैं, परंतु यहां बिजली लाइनें व्यवस्थित नहीं की जा रहीं हैं। ये विधायक स्तर का मामला है, अब उनसे बात कर ये मुद्दा आला अफसरों तक पहुंचाएंगे।
अश्विनी शुक्ल, स्थानीय पार्षद

eletric current
अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned