बाइक सहित पुलिया से नीचे गिरा इंजीनियरिंग छात्र, दर्दनाक मौत

बाइक सहित पुलिया से नीचे गिरा इंजीनियरिंग छात्र, दर्दनाक मौत

Hussain Ali | Updated: 09 May 2019, 09:01:51 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

बाइक सहित पुलिया से नीचे गिरा इंजीनियरिंग छात्र, दर्दनाक मौत

इंदौर. तेजाजी नगर बायपास पर चल रहे निर्माण कार्य के दौरान पुलिया से गिरने पर इंजीनिरिंग छात्र की मौत हो गई। दोस्त उछलकर दूसरी तरफ गिरा तो बच गया। सडक़ पर पत्थर से बाइक टकराई जिसके बाद संतुलन बिगडऩे पर गाड़ी दस फीट गहरी निर्माणाधीण पुलिया से नीचे गिर गई।

सिल्वर स्प्रिंग के सामने मंगलवार रात 2.30 बजे सडक़ हादसे में नयन बरोड़ निवासी मानपुर की मौत हो गई। वह दोस्त सचिन के साथ मंगलवार रात राऊ से लौट रहा था। दोनों आईईटी कॉलेज से इंजीनियरिंग कर रहे थे। तीन इमली पर किराए से कमरा लेकर वे रहते हैं। बाइक सचिन की थी, जिसे नयन चला रहा था। बायपास पर सर्विस रोड बन रहा है। सचिन ने पुलिस को बताया, उनकी बाइक एक पत्थर से टकरा कर असंतुलित हो गई और सचिन उछलकर ऊपर ही गिर गया। जबकि बाइक सहित नयन वहां बन रही 10 फीट गहरी निर्माणाधीण पुलिया से नीचे गिर गया। घटना के बाद सचिन बेहोश हो गया। होश आने पर उसे नयन नहीं दिखा। उसे लगा कि वह बाइक लेकर चला गया। वह रालामंडल पर रहने वाले दोस्त के रूम पर गया और सो गया। बुधवार सुबह जब वे नयन को ढूंढऩे आए तो पुलिया के नीचे वह और उसकी बाइक दिखी। आसपास के लोगों की मदद से उसे बाहर निकाला गया। पुलिस ने शव को एमवाय अस्पताल भिजवाया। बताते हैं, नयन के पिता मानपुर में वेटनरी डॉक्टर हैं। परिवार में मां व एक भाई है। सूचना पर परिवार एमवाय पहुंचा। पोस्टमॉर्टम के बाद वे नयन का शव मानपुर ले गए। मामले में पुलिस ने सचिन से बात की तो उसने घूमने के लिए निकलने की बात कही। जिस पुलिया के नीचे वे गिरे वहां कोई संकेतक भी नहीं था। टीआई तेजाजी नगर नीरज मेड़ा ने बताया पता किया जा रहा है कि यह निर्माण कार्य किस विभाग द्वारा कराया जा रहा है। उनसे ठेकेदार की जानकारी ली जाएगी। जांच के बाद जिसकी लापरवाही सामने आएगी, उस पर कार्रवाई करेंगे।

इधर, नगर निगम की रिपोर्ट का इंतजार

पलासिया क्षेत्र के मनोरमा गंज में 1 अप्रैल की रात गड्ढेे में गिरने से नीट की तैयारी कर रहे नितिन मधुकर निवासी गीता भवन की मौत हो गई थी। गड्ढे के आसपास कोई संकेतक नहीं था। रातों रात ही गड्ढे को भर भी दिया गया। मामले में पुलिस ने नगर निगम से पूछा था, इस गड्ढे के लिए कौन जिम्मेदार है? रिपोर्ट के आधार पर केस दर्ज किया जाना है। रिपोर्ट के इंतजाम में लापरवाही करने वालों पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned