पैसे लेकर भी भूमाफिया ने नहीं दिया मां-बेटे को प्लॉट, अब कलेक्टर से मदद की गुहार

पुलिस से की शिकायत, अब कलेक्टर से लगाई गुहार

इंदौर. सुपर कॉरिडोर पर कॉलोनी में मकान बनाने का सपना देखने के साथ एक शख्स व उसकी मां ने दो प्लॉट खरीदे थे। बकायदा भूमाफिया ने उसका एग्रीमेंट कर पैसे भी ले लिए, लेकिन बाद में जब कब्जा देने की बारी आई तो टालना शुरू कर दिया। पीडि़तों ने पहले पुलिस को शिकायत की अब कलेक्टर से मदद की गुहार लगाई।

ये शिकायत 342/8 शिवकंड नगर निवासी मंजू पति राजमल मालवीय ने की। कहना है कि आरएलके कंस्ट्रक्शन कम्पनी ने टिगरिया बादशाह के सर्वे नंबर 101/1 व 102/1 पर शिव नगर एक्सटेंशन बनाया गया। इसके डायरेक्टर रामसुमरन कश्यप हैं, जिनसे 14 बाय 40 का 600 वर्गफीट फीट का प्लॉट का 3 लाख 70 हजार रुपए में खरीदा था। इसके लिए 29 मई 2017 को एक लाख रुपए का डायरेक्टर कश्यप निवासी सनराईस टावर को बयाना दिया था। ऐसा ही सौदा मेरी माता गुलाबबाई पति गिरधारी लाल निवासी केलौदकर्ताल से कश्यप ने किया। कश्यप ने ढाई लाख रुपए लेकर उन्हें विक्रय की नोटरी कर रखी है।

दोनों को एक माह में प्लॉट देने का कहा था, लेकिन आज तक कब्जा नहीं दिया गया। बार बार चक्कर लगाने पर कश्यप ने अब मिलने से इनकार कर दिया। हमारे साथ धोखाधड़ी होने की शिकायत बाणगंगा पुलिस से भी की गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव से कॉलोनी की जांच कराके कब्जा दिलाने या पैसे दिलाने का कहा। प्रशासन ने अब कॉलोनी की जांच के निर्देश जारी कर दिए हैं।

रीना शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned