गोवा में बनी ३० लाख कीमत की महंगी शराब आबकारी ने पकड़ी

देवास नाके स्थित गोडाउन से १८५ शराब की पेटियां जब्त, संचालक टीम देख भागा

 

By: Krishnapal Singh

Published: 07 Jun 2018, 04:04 AM IST

इंदौरदेवासनाके स्थित एक गोडाउन में गोवा में बनी ३० लाख कीमत की महंगी शराब को बुधवार को आबकारी विभाग ने जब्त की है। जिस गोडाउन से अवैध रूप से क्षेत्र में शराब सप्लाय की जा रही थी उसका संचालक विभाग के पहुंचते ही वहां से भाग निकला। इस बारे में गोडाउन मालिक व अन्य लोगों से टीम पूछताछ कर रही है। सहायक आबकारी आयुक्त नरेश कुमार चौबे ने बताया की तीन दिन पूर्व टीम सीकेडी ढ़ाबे के पीछे स्थित सरदार के ढ़ाबे पर जांच के लिए पहुंची। यहां टीम को गोवा में बनी महंगी शराब अवैध रूप से परोसने का पता चला। शराब जिस गोडाउन से सप्लाय हो रही थी टीम उसे ढुंढते हुए देवास नाके स्थित एक गोडाउन के बाहर जा पहुंची। यहां विभाग के कर्मचारियों को आते देख स्वीटी नामक व्यक्ति कार से भागता नजर आया। उसकी कार से कुछ शराब की बोतले भी गिर गई। टीम ने उसका नंबर नोट किया। कार रोशन ट्रांसपोर्ट के पास स्थित गोडाउन के बाहर खड़ी थी। उक्त गोडाउन की तलाशी लेने पर ३० लाख कीमत की कुल १८५ शराब की पेटियां पकड़ी है। जब्त शराब के बारे में एसपी ने बताया की वह गोवा में बनी है। जो की १२ इयर मैच्युअर माल्ट है। प्रत्येक बोतल की कीमत १ हजार से १२०० के बीच है। इसमें ओल्ड ओक व रोक ब्रांड की शराब शामिल है। गोडाउन मालिक राजेश कालरा से इस संबंध में पूछताछ की है। उन्होंने गोडाउन स्वीटी नाम के व्यक्ति को किराए पर देने की बात कही है। उन्होंने गोडाउन कितने माह से किराए पर दिया है। पूछताछ में वे इस बात की जानकारी नहीं दे पाए। आरोपित की पहचान व उससे संबंधित अन्य जानकारी जुटाने के लिए उनसे रेंट एग्रीमेंट मांगा है। वहीं गोडाउन के आसपास कुछ संदिग्ध भी मिले जिनसे इस संबंध में पूछताछ जारी है।

कई गोडाउन तलाशे

अवैध रूप से शराब सप्लाय कर रहे गिरोह को संदेह न हो इसके लिए विभाग की टीम क्षेत्र में सिविल ड्रेस में रैकी कर रही थी। कई गोडाउन तलाशने के बाद भी आरोपितों का सुराग नहीं मिला। इसके बाद टीम ने ढ़ाबे पर शराब सप्लाय करने वालों की गतिविधि पर नजर रखना शुरू की। तब पता चला की ट्रांसपोट गोडाउन के आसपास ही किसी गोडाउन में शराब भरी है। वहीं गोडाउन संचालक जिस कार से फरार हुआ है। आरटीओ की मदद से उसके वाहन की डिटेल निकालने के बाद तलाश शुरू कर दी है।

Krishnapal Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned