टीही तैयार, जल्द पटरियों पर दौड़ेगा निर्यात का इंजन

टीही तैयार, जल्द पटरियों पर दौड़ेगा निर्यात का इंजन

अक्टूबर से पीथमपुर से सामान का निर्यात होगा आसान, उद्योगों को होगा फायदा


इंदौर@प्रमोद मिश्रा। पीथमपुर के उद्योगों के लिए उत्साहजनक खबर है। इंदौर से 22 किलोमीटर दूर स्थित रेलवे के टीही स्टेशन का काम पूर्णता की ओर है। पटरियां बिछ चुकी हैं और स्टेशन की बिल्डिंग भी तैयार है। अक्टूबर में इसके शुरू होने पर पीथमपुर से निर्यात के लिए भेजे जाने वाले कंटनेर का परिवहन यहीं से हो सकेगा और निर्यात बढऩे से पीथमपुर देश के बड़े निर्यात केंद्रों में गिना जाएगा।

train

टीही रेलवे स्टेशन छह महीने में पूरा करने का टारगेट था, लेकिन डेढ़ साल से अधिक समय लग रहा है। इसके शुरू होने की उम्मीद ने पीथमपुर के उद्योगों को उत्साह से भर दिया है। अब तक माल निर्यात के लिए उद्योगों को सड़क मार्ग से कंटेनर रतलाम भेजना पड़ता है। इससे माल खराब होने की आशंका के साथ समय भी अधिक लगता है। पीथमपुर सेज व अन्य सेक्टरों की कई इकाईयां निर्यात करती हैं। मांग के बावजूद सीधे रेल कनेक्टिविटी नहीं होने से कंपनियां पर्याप्त आपूर्ति नहीं कर पा रही हैं। पीथमपुर में कंटेनर कॉर्पोरेशन का इनलैंड डिपो व दो निजी डिपो भी कार्यरत हैं। जो यहां से प्लास्टिक, मेडिसिन, सोया उत्पाद, कपड़े, ऑटोमोबाइल पाट्र्स, फूड्स आदि कंटनेर को ट्राले में चढ़ाकर सड़क मार्ग से रतलाम ले जाते हैं। इससे परिवहन में खर्च दोगुना होने के साथ ही लोडिंग-अनलोडिंग में नुकसान भी होता है।

फरवरी 2015 में शुरू हुआ काम

राऊ से करीब 8-9 किलोमीटर दूर टीही स्टेशन का काम 7 फरवरी 2015 से शुरू हुआ। राऊ स्टेशन से टीही के लिए अलग रेल लाइन डाली गई है। टीही स्टेशन से करीब 2 किलोमीटर आगे तक पटरी बिछा दी गई है। यहां से डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर कंटेनर कॉर्पोरेशन के डिपो का निर्माण भी प्रारंभ हो गया है। कॉर्पोरेशन यहां तक पटरी बिछा रहा है। डिपो का काम पूरा होने में अभी समय लगेगा, लेकिन अक्टूबर तक कंटेनर परिवहन का काम शुरू होने का दावा है।

उम्मीदों की लाइन 

टीही स्टेशन के बचे हुए छोटे-मोटे काम जल्द किए जाएंगे, ताकि माल परिवहन शुरू हो सके।
जितेंद्र कुमार जयंत, रेलवे पीआरओ

अभी यहां 30 हजार कंटनेर प्रतिवर्ष जाते है, जो रेल परिवहन शुरू होने से काफी 
बढ़ जाएंगे।
गौतम कोठारी, अध्यक्ष, पीथमपुर औद्योगिक संगठन

नवंबर 2014 में रेल मंत्री सदानंद गौड़ा से चर्चा में टीही स्टेशन की बात हुई। उन्हें प्रस्ताव अच्छा लगा और काम शुरू हो गया। इससे रेलवे को किराए के रूप में बड़ा फायदा होगा और पीथमपुर का नाम पूरे देश में अव्वल होगा। 
नागेश नामजोशी, रेलवे विशेषज्ञ

ऐसे होगा फायदा

train

टीही में स्टेशन बन जाने से कंटेनर कार्पोरेशन डिपो पीथमपुर के उद्योगों का माल सीधे रेलवे की माल गाड़ी में लोड कर वाया 
रतलाम मुंबई या अन्य पोर्ट पहुंचाया जा सकेगा। भविष्य में दाहोद तक लाइन पूरी होने पर गुजरात पोर्ट पर भी सीधे परिवहन की सुविधा मिल जाएगी। एक मालगाड़ी में 100-200 कंटनेर भेजे जा सकेंगे, जबकि अभी एक ट्राले में 2 कंटेनर ही जापाते हैं।

डिपो तक लाइन बिछ रही है। परिवहन शुरू होने के बाद यहां से निर्यात तेजी से बढ़ेगा।
के. श्रीनिवासन जीएम, कंटेनर कार्पोरेशन पीथमपुर

70 करोड़ रुपए खर्च किए रेलवे ने
13 कमरों की स्टेशन बिल्डिंग तैयार, पटरियां भी बिछीं
200 करोड़ रुपए निवेश कंटेनर कॉर्पोरेशन का 
500 इंडस्ट्री लाभान्वित होंगी पीथमपुर की

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned