बीआरटीएस पर सुबह किया ब्लास्ट नाकाम

Arjun Richhariya

Publish: Dec, 07 2017 04:35:00 (IST) | Updated: Dec, 08 2017 03:48:21 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
बीआरटीएस पर सुबह किया ब्लास्ट नाकाम

इसे हटाने के लिए निगम अफसरों ने काफा मशक्कत की, पर सफल नहीं हुए

इंदौर. आज सुबह शिवाजी वाटिका चौराहे (बीआरटीएस कॉरिडोर) पर सीवरेज लाइन डालने के लिए एक चट्टान हटाने के मकसद से ब्लास्ट किया गया। चट्टान में में 34 छेद किये गए और विस्फोटक लगाया गया। बावजूद इसके चट्टान नहीं हिली, इसलिए शाम तक फिर से ब्लास्ट किया जाएगा। यह पहला मौका है जब सीवरेज की पाइप लाइन के लिए इस तरह ब्लास्ट किया गया है। शिवाजी वाटिका चौराहे पर यातायात का सबसे ज्यादा दबाव होता है। सुबह से लेकर देर रात तक इस चौराहे पर चारों तरफ से वाहनों की आवाजाही बनी रहती है। इस चौराहे पर निगम द्वारा नई सीवरेज लाइन डालने का काम किया जा रहा था, लेकिन एक चट्टान रोड़ा बन गई। इसे हटाने के लिए निगम अफसरों ने काफा मशक्कत की, पर सफल नहीं हुए। अफसरों ने फैसला लिया कि इस स्थान पर ब्लास्ट किया जाए। इसके तहत आज सुबह ८.३० बजे शिवाजी वाटिका चौराहे पर ब्लास्ट किया गया। निगम के स्टेडियम जोन के जोनल अफसर नागेंद्र सिंह भदौरिया ने कहा बीआरटीएस पर शिवाजी वाटिका चौराहा से जीपीओ के बीच निगम स्टेडियम जोन कार्यालय के सामने बीआरटीएस पर सीवरेज की पाइप लाइन डालने का काम चल रहा है। चट्टान के कारण आज सुबह विस्फोटक विशेषज्ञ सरवटे द्वारा नियंत्रित विस्फोट किया गया। चट्टान में 34 छेद किये गए , उसमें विस्फोटक भरा गया। फिर जाकर विस्फोट किया गया, लेकिन इस विस्फोट से भी या चट्टान नहीं हिली। चट्टान में से कुछ टुकड़ा जरूर निकलकर अलग हुआ। चट्टान हटाने के लिए अब शाम तक एक बार फिर विस्फोट किया जाएगा। इसके माध्यम से स्थान को कमजोर कर हटाने की कोशिश की जाएगी। विस्फोट विशेषज्ञ सरवटे का कहना है कि संभव है कि चट्टान तीन विस्फोट होने पर टूटे। अभी इसका परीक्षण किया जा रहा है। शाम तक फिर विस्फोट करेेंगे।

यातायात किया डायवर्ट
बीआरटीएस पर जीपीओ से शिवाजी वाटिका और एमवाय अस्पताल के सामने रोटरी तिराहे पर आने जाने वाले ट्रैफिक के लिए सुबह 8:30 बजे से 9 बजे के मध्य ट्रैफिक रोका गया। ट्रैफिक पूर्णत: प्रतिबंधित रहा। जीपीओ से छावनी या नेहरू स्टेडियम या शिवाजी वाटिका चौराहा से रेसीडेंसी कोठी या आजाद नगर की ओर परिवर्तित मार्ग का उपयोग किया गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned