सेहत से खिलवाड़ : नकली हींग बनाने वाली फैक्ट्री का पर्दाफाश

नकली फैक्ट्री से 14 क्विंटल मिलावटी हींग और करीब 31 क्विंटल हींग बनाने की सामग्री जब्त...

By: Shailendra Sharma

Published: 27 Nov 2020, 06:59 PM IST

इंदौर. एक चुटकी में खाने का स्वाद और आपका हाजमा बदल देने वाली हींग में मिलावट के बड़े कारोबार का खुलासा हुआ है। मामला इंदौर का है जहां एसटीएफ ने पालदा इलाके में चलाई जा रही एक नकली हींग बनाने वाली फैक्ट्री का भांडाफोड़ किया है। एसटीएफ की टीम जब कंपनी के अंदर दाखिल हुई तो अंदर का नजारा देख हैरान हो गई। फैक्ट्री में कैमिकल के जरिए नकली हींग बनाने का काम किया जा रहा था।

 

जमीन पर सड़ रही थी हजारों रुपए में बिकने वाली हींग

एसटीएफ की टीम को शुक्रवार को सूचना मिली थी कि पालदा इलाके में नकली हींग बनाने का काम किया जा रहा है। सूचना के पुख्ता होने के बाद टीम ने वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी और जब फैक्ट्री पर छापा मारा तो अंदर का नजारा देखकर हैरान रह गई। फैक्ट्री के अंदर हजारों रुपए किलो के भाव से बिकने वाली हींग जमीन पर बिखरी पड़ी थी और सड़ रही थी। जिस हींग के जरिए पेट का हाजमा ठीक होता है उसे कैमिकल मिलाकर तैयार किया जा रहा था। जिसके बाद तुरंत एसटीएफ की टीम ने खाद्य विभाग की टीम के साथ मिलकर इस कार्रवाई को अंजाम दिया था। फैक्ट्री से 14 क्विंटल मिलावटी हींग और करीब 31 क्विंटल हींग बनाने का सामान जब्त किया गया है।

 

कैमिकल से बना रहे थे हींग

बताया जा रहा है मैदा और औलियारेसिन केप्सिकम नाम के केमिकल को मिलाकर फैक्ट्री में हींग बनाई जा रही थीं। ये भी पता चला है कि औलियारेसिन केप्सिकम नाम का जो केमिकल फैक्ट्री से जब्त किया गया है उसका सेवन त्वचा संबंधित बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। जिससे आप अंदेशा लगा सकते हैं इस मिलावटी हींग का सेवन आपकी सेहत के लिए कितना खतरनाक हो सकता है। एसटीएफ और खाद्य विभाग ने फैक्ट्री से नकली हींग और उसे बनाने वाली सामग्री को जब्त कर लिया है और आगे की जांच कर रही है।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned