'राइजिंग स्टार सीजन-2' विनर बोले, रियलिटी शोज में मिले फेम से दिमाग खराब हो जाता है

'राइजिंग स्टार सीजन-2' विनर बोले, रियलिटी शोज में मिले फेम से दिमाग खराब हो जाता है

amit mandloi | Publish: Aug, 12 2018 09:32:49 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

मध्यप्रदेश कबड्डी लीग में छाया राइजिंग स्टार सीजन-2 के विनर बृजवासी की आवाज का जादू

इंदौर. खेल प्रशाल में आयोजित मप्र कबड्डी लीग में शनिवार को सारेगामा लिटिल चैंप एवं राइजिंग स्टार सीजन २ के विनर हेमंत बृजवासी ने अपनी मखमली आवाज की शानदार प्रस्तुति दी। लीग में सेमीफाइनल के मुकाबलों के बाद बृजवासी ने माहौल को और भी जोश और एनर्जी से भर दिया। अपने चहेते सितारे को सुनने के लिए दर्शकों में भी खासा उत्साह था। बृजवासी ने भी अपने चाहने वालों को निराश न करते हुए एक से बढ़कर एक गीत सुनाए। उन्होंने पैरोडी गीतों से कंसर्ट में श्रोताओं को सीट से उठकर झूमने पर मजबूर कर दिया। क्लासिकल सिंङ्क्षगग में भीं हेमंत अच्छी पकड़ है और यह बात उनकी गायकी मे भी साफ नजर आती है। ये मोह-मोह के धागे, सांवरे, एक प्यार का नगमा है, छू कर मेरे मन को आदि गानों ने माहौल में चार चांद लगा दिए।

रियलिटी शो से मिला फेम मेेंटेन करना सबसे मुश्किल
मेरा इंदौर से पुराना नाता रहा है। 2009 से लेकर अब तक सैकड़ों बार यहां आ चुका हूं। यहां के ऑडियंस की नब्ज को अच्छे से पहचानता हूं। मेरे फेवरेट एक्टर सलमान खान व फेवरिट सिंगर लता मंगेशकर इसी शहर के हैं। इंदौर कलाकारों का शहर है। यहां कलाकारों को विशेष स्नेह दिया जाता है।

मैं बिना मंजिल का राही हूं

उन्होंने कहा, मैं बिना मंजिल का राही हूं। मेरी कोई मंजिल नहीं है। मैं कुछ हटकर करना चाहता हूं। चाहता हूं कि नुसरत साहब की तरह बन सकूं कि मरने के बाद भी लोग मेरे गाने याद रखें। मैं लेजेंड बनना चाहता हूं। मुझे लगता है कि मैं जो कुछ भी गाता हूं वह लोगों के दिलों तक पहुंचता है। एक बार की बात है कि मैं विशाल-शेखर के साथ वल्र्ड टूर पर था। अमरीका में शो के दौरान मेरा गाना सुनने के बाद लोगों ने फरमाइश की कि हेमंत को दोबारा बुलाया जाए। अपने आने वाले प्रोजेक्टस को लेकर उन्होंने कहा, गदर फेम डायरेक्टर अनिल शर्मा अपने बेटे उत्कर्ष को जीनियस फिल्म से लांच करने जा रहे हैं, उसमें मेरी आवाज होगी। साथ ही हालही में रिलीज हुई फिल्म सूरमा में भी मैंने दो गाने गाए हैं।

रियलिटी शो में आएं बदलाव के बारे में हेमंत कहते हैं, हर बात के दो पहलू होते हैं। अच्छा पहलू यह है कि पहले के जमाने में कुछ सिलेक्टेड गायक ही हीरो के लिए गाते थे, लेकिन अब एेसा नहीं है। आज जिसमें भी प्रतिभा है वह मुंबई आकर रोजी-रोटी कमा सकता है। आज हमारी खुद की लंबी फैन फॉलोइंग है। बुरा पहलू यह है कि जब लोगों को इन शोज में मौका मिलता है, तो सफलता की वजह से उनका दिमाग खराब हो जाता है। फेम को मेंटेन करना सबसे मुश्किल है। हेमंत ने कहा, मेरी आवाज में मेरे पिता का असर सबसे ज्यादा है। आज जो कुछ भी हूं, मेरे पिता की वजह से ही हूं। ये आवाज उन्हीं की वजह से मिली है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned