अमेरिकी नागरिकों को ठगने वाले इंदौर के कॉल सेंटर की जांच करेगी FBI

अमेरिकी नागरिकों को ठगने वाले इंदौर के कॉल सेंटर की जांच करेगी FBI

Hussain Ali | Updated: 12 Jun 2019, 03:09:15 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

सायबर सेल ने भेजी जानकारी

इंदौर. इंदौर में रहकर अमेरिका के लोगों से ठगी करने वाले आरोपितों की जांच अब अमेरिकी एजेंसी एफबीआई करेगी। इसके लिए वे इंदौर भी आ सकते हैं। सायबर सेल पुलिस ने आरोपितों की जानकारी एफबीआई को भेजी है। आरोपित अमेरिका के सैकड़ों लोगों से ठगी कर चुके हैं, लेकिन ठगी करने का तरीका ऐसा था कि फरियादी सामने ही नहीं आते थे। इसी का फायदा ये उठाने लगे। वहीं पुलिस अब आरोपितों का लोकल नेटवर्क खंगालने में लगी है। रिमांड पर चल रहे तीन मुख्य आरोपितों को लेकर पुलिस आज उनके ठिकानों पर जाएगी।

must read : निगम बजट : इंदौर में 180 करोड़ से तैयार होंगी सडक़ें, दो नए इंटर स्टेट बस स्टैंड बनाएंगे

एसपी सायबर जितेंद्र सिंह ने बताया कि हम पता लगा रहे हैं कि आरोपित इंदौर में कब से रह रहे हैं। दोनों कॉल सेंटर और फ्लेट उसे किसने दिलवाए। पुलिस को इन्होंने इनकी जानकारी दी थी या नहीं। जानकारी मिली है कि ये लोग हवाला से लेनदेन करते थे। इसमें कौन सहयोग करता था इसकी जांच करने के साथ ही इनका पुराना रिकार्ड खंगाला जा रहा है। जो पढ़े- लिखे लोग काल सेटर में पकड़ाए हैं उनके परिजनों को भी जानकारी भेजी जा रही है। गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह को राज्य सायबर सेल ने पकड़ा है। यह गिरोह इंदौर में कॉलसेंटर के माध्यम से अमेरिकी नागरिकों के साथ ठगी को अंजाम दे रहा था। पुलिस ने गिरोह के विजय नगर इंदौर स्थित कॉल सेंटर पर दबिश देकर 80 युवक-युवतियों को गिरफ्तार किया है। पूरे प्रदेश में अब तक की यह सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है। सायबर सेल को मुखबिर से सूचना मिली थी कि महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली से कुछ लोग इंदौर आकर अवैध कॉल सेंटर चला रहे हैं। इस कॉल सेंटर के माध्यम से अमेरिका के नागरिकों को कॉल कर उनसे उनके सोशल सिक्युरिटी नंबर का उपयोग अवैध गतिविधियों जैसे मनीलाड्रिंग व ड्रग ट्रेफिकिंग में शामिल होने का बताया जाता था। इसके बाद अमेरिकी नागरिकों को डराकर उनसे 50 डॉलर से लेकर 5000 डॉलर तक की राशि विभिन्न माध्यमों से वसूली जा रही थी।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned