ऐसा क्या हुआ जो साईं बाबा का मंदिर हटाने के लिए भारी भरकम पुलिस फोर्स को साथ लेकर पहुंचे दो अपर कलेक्टर और आधा दर्जन एसडीएम

ऐसा क्या हुआ जो साईं बाबा का मंदिर हटाने के लिए भारी भरकम पुलिस फोर्स को साथ लेकर पहुंचे दो अपर कलेक्टर और आधा दर्जन एसडीएम
ऐसा क्या हुआ जो साईं बाबा का मंदिर हटाने के लिए भारी भरकम पुलिस फोर्स को साथ लेकर पहुंचे दो अपर कलेक्टर और आधा दर्जन एसडीएम

Mohit Panchal | Updated: 11 Oct 2019, 10:53:39 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

दो अपर कलेक्टर और आधा दर्जन से अधिक एसडीएम पहुंचे, कार्रवाई का विरोध करने वालों को पुलिस ने बैठाया

कोर्ट के डर से प्रशासन ने ताबड़तोड़ हटाया साईं बाबा के मंदिर


इंदौर। शिवाजी वाटिका चौराहे पर बने साईं बाबा के मंदिर को आज सुबह ताबड़तोड़ हटा दिया गया। कार्रवाई के लिए दो अपर कलेक्टर, आधा दर्जन से अधिक एसडीएम और पुलिस का फोर्स मौके पर पहुंचा था। इस मामले में हाई कोर्ट में कलेक्टर व एसएसपी को उपस्थित होकर जवाब देना पड़ गया था।

आज सुबह ७.३० बजे अपर कलेक्टर कैलाश वानखेड़े व एसडीएम प्रतुल्ल सिन्हा, शाश्वत शर्मा, सोहन कनाश, अंशुल खरे, राकेश शर्मा व श्रीलेखा श्रोत्रिय सहित कई पटवारी संयोगितागंज थाने पहुंचे। कुछ देर में पुलिस के आला अफसर व नगर निगम की टीम भी आ गई। यहां से जेसीबी व डम्पर को लेकर टीम आयकर भवन के सामने पहुंची। जहां पर ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए साईं बाबा के मंदिर को हटा दिया गया।

अमले को आता देख मंदिर से जुड़े ऑटो रिक्शा स्टंैड के सदस्यों ने विरोध करना शुरू कर दिया। इस पर पुलिस ने तुरंत उन्हें गाड़ी में बैठा लिया। अफसरों का इशारा मिलते ही साईं बाबा की प्रतिमा को उठाकर मंदिर को भी हटा दिया गया। कुछ ही देर में कार्रवाई पूरी हो गई। उस दौरान एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र भी पहुंचीं। प्रतिमा को प्रशासन ने योजना १४० में बने मंदिर कॉम्प्लेक्स में भेज दी जहां पर स्थापना की जाएगी।

गौरतलब है कि हाई कोर्ट ने पूर्व में लेफ्ट टर्न की बाधा हटाने के निर्देश दिए थे। कार्रवाई नहीं होने पर पिछले दिनों कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव व एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र को उपस्थित होने के निर्देश दिए थे। बताते हैं कि दो-चार दिन बार फिर से तारीख लगने वाली थी जिसके चलते प्रशासन व पुलिस ने पहले ही कार्रवाई कर दी। तुरत-फुरत अब निगम लेफ्ट टर्न को भी चौड़ा करने का काम कर देगा।

ऐसे तैयार हुआ मंदिर
आयकर भवन के सामने व्हाइट चर्च के कोनेपर ऑटो रिक्शा स्टैंड बना हुआ है। कुछ ऑटोवालों ने मिलकर साईं बाबा की मूर्ति स्थापित की थी। धीरे-धीरे बड़ा मंदिर बना दिया गया। जब बीआरटीएस व उससे जोडऩे वाली सड़कों के लेफ्ट टर्न चौड़ा करने का फैसला हुआ तो यहां पर आकर निगम की गुत्थी उलझ गई।

बाद में मामला हाई कोर्ट तक पहुंच गया जहां पर कोर्ट ने सड़क से बाधा खत्म करने के निर्देश दिए। कार्रवाई नहीं करने पर कोर्ट ने सख्त रुख अपनाया। कुछ दिनों पहले जब प्रशासन कार्रवाई करने वाला था तब बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने आंदोलन कर बवाल कर दिया था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned