विधान सभा चुनाव : भोजन- भंडारा और धार्मिक आयोजनों से वोट की जुगाड़ में नेताजी

विधान सभा चुनाव : भोजन- भंडारा और धार्मिक आयोजनों से वोट की जुगाड़ में नेताजी

Amit S. Mandloi | Publish: Oct, 14 2018 11:25:16 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

इंदौर-2 विधानसभा का ट्रेंड अधिकतर विधानसभा सीटों पर हावी

इंदौर. शहर की राजनीति में भोजन-भंडारा जनता को साधने का एक बड़ा साधन बन गया है। चुनावी साल में दावेदार नेता स्थानीय मुद्दों की बजाय धार्मिक आयोजनों में पुड़ी-सब्जी और उपहार बांटकर जनता के प्रिय बनने की जुगत में लगे हैं। इंदौर-२ से शुरू हुआ भंडारों का ट्रेंड जिले के अधिकतर विधानसभा क्षेत्रों में देखने को मिल रहा है। सबसे ज्यादा घमासान 1 नंबर क्षेत्र में हो गया है। चुनावी साल में तमाम दावेदार इसी जुगाड़ में लगे हुए हैं।
रिपोर्ट @ रणवीर सिंह कंग, सुधीर पंडित

विधानसभा- 1
सुदर्शन गुप्ता : विधायक गुप्ता नवरात्रि पर चुनरी यात्रा निकालते हैं। यात्रा बिजासन मंदिर तक पहुंचने से पहले विधानसभा क्षेत्र की बस्तियों के वोटरों को लुभाने की कवायद से शुरू होती है। निमंत्रण के साथसाड़ी-कलश बांटे जाते हैं।

कमलेश खंडेलवाल
खंडेलवाल क्षेत्र में सालभर संस्था सृजन के माध्यम से धार्मिक आयोजन कराते हैं। रन फॉर क्लीन पॉलिटिक्स मैराथन का आयोजन 14 अक्टूबर को कर रहे हैं। इनके कार्यक्रमों की सूची लंबी है।
येे हैं मुख्य आयोजन: सर्वपितृ तर्पण मोक्ष महायज्ञ, नि:शुल्क सर्वधर्म सामूहिक विवाह, जन्माष्टमी मटकी फोड़ प्रतियोगिता, सावन में 40 हजार मातृशक्तियों की ओंकारेश्वर-ममलेश्वर यात्रा, लक्ष्मीनारायण महायज्ञ, संगम कार्नर गेर, 10 दिनी फाग महोत्सव।

चुनावी साल में सक्रिय नेता
संजय शुक्ला: शुक्ला ने बाणगंगा क्षेत्र में अप्रैल में 7 दिनी भागवत कथा कराई। चुनावी साल में कई धार्मिक आयोजन कराए। हर वार्ड में दाल-बाफला पार्टी का आयोजन।

गोलू अग्रिहोत्री : इंदौर 1 में सक्रिय। इन्होंने दिवंगत बड़े भाई के नाम पर राजा न्यास बनाया। भागवत कथा, जन्मदिन और अब चुनरी यात्रा का आयोजन करते हैं।

गोलू शुक्ला: कावड़ यात्रा, गणपति महोत्सव और भागवत मर्मज्ञ देवकीनंदन ठाकुर की भागवत कथा सहित कई अन्य धार्मिक आयोजन क्षेत्र में कराए।

धार्मिक आयोजनों पर इतना खर्च
सदर्शन गुप्ता :
1 लाख भक्त शामिल होने का दावा करते हैं।
अनुमानित 25 लाख खर्च बैठक से लेकर यात्रा तक बताया जाता है।

गोलू शुक्ला :
कावड़ यात्रा पर 50 लाख खर्च, 4000 कावड़ यात्री का दावा।
गणेश महोत्सव पर 10 लाख खर्च का दावा करीबी करते हैं।

गोलू अग्रिहोत्री :
कथा पर 2 करोड़ खर्च का अनुमान, 40 हजार का रोज भंडारा
कावड़ यात्रा उज्जैन तक, 10 लाख रुपए खर्च का अनुमान
चुनरी यात्रा में 10 लाख का दावा

कमलेश खंडेलवाल :
तीर्थ यात्रा पर 60 लाख खर्च।
सावन अनुष्ठान और शोभायात्रा पर 20 लाख खर्च का दावा।
तर्पण पर १0 लाख रुपए से अधिक खर्च का अनुमान।

संजय शुक्ला :
जया किशोरी की कथा में 10 दिनों तक 5 लाख श्रद्धालुओं का दावा 2 करोड़ खर्च का अनुमान रोज 50 हजार श्रद्धालुओं के लिए भंडारा। नानी बाई को मायरो पर 2 करोड़ खर्च का दावा कर रहे करीबी।
पहले दाल बाफले की पार्टी पर 25 लाख खर्च की बात सामने आई थी

विधानसभा- 2
रमेश मेंदोला
दो नंबर से दो बार से विधायक मेंदोला सालभर क्षेत्र में भोजन-भंडारों का आयोजन कराते हैं। इसे लेकर नाम चर्चा में आने के बाद मां कनकेश्वरी देवी सेवा न्यास बनाई। अब आयोजन का खर्च न्यास के माध्यम से दर्शाते हैं।

दो नेता सक्रिय : क्षेत्र में कांग्रेस के चिंटू चौकसे और मोहन सेंगर सक्रिय हैं। दोनों ने कथा-भंडारे कराए। सेंगर ने रामकथा तो चौकसे रामकथा, भजन संध्या और भंडारे में जुटे रहे।

आयोजन पर खर्च
रमेश मेंदोला
सामूहिक विवाह में 5 तोला सोना और लाखों रुपए का उपहार। सालभर में 12 करोड़ खर्च का अनुमान है।

चिंटू चौकसे : गतिविधियों पर 25 लाख का दावा।
मोहन सेंगर : साल में करीब 30 लाख खर्च का अनुमान।

विधानसभा- 3
उषा ठाकुर
दुर्गा सप्तशती का आयोजन हर वार्ड में। कावड़ यात्रा, जिसे कुछ वर्षों पहले बंद कर दिया गया। नवरात्रि में चुनरी यात्रा निकाली जाती है।
खर्च : लगभग 25 लाख का दावा।

अश्विन जोशी

गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर देशभक्ति के आयोजन, रंगपंचमी की गेर में सक्रियता।
खर्च : 20 लाख का खर्च का अनुमान।

विधानसभा- 4
मालिनी गौड़
दिवंगत पति लक्ष्मणसिंह गौड़ द्वारा शुरू किए हिंद रक्षक के आयोजनों गरबा, यज्ञ, रंगपंचमी पर फाग यात्रा।
खर्च : लगभग 2० लाख का अनुमान।

शंकर लालवानी

लालबाग में मेला, राजबाड़ा पर पेंटिंग प्रतियोगिता। हालांकि, लालवानी भोजन-भंडारों से दूरी बनाए हुए हैं।
खर्च : लगभग 10 लाख का अनुमान।

विधानसभा- 5
महेन्द्र हार्डिया
हार्डिया दो बार से विधायक हैं। वह हर छोटे-बड़े कार्यक्रम में शामिल होते हैं, लेकिन खुद कोई बड़ा आयोजन नहीं कराते।
खर्च : लगभग 10 लाख खर्च का अनुमान

पंकज संघवी
संघवी की भी यही रणनीति है। वह भी सार्वजनिक आयोजन की बजाय जरूरतमंदों की मदद करते हैं।
खर्च : 25 लाख खर्च का दावा।

indore politics

राऊ
जीतू पटवारी
जिले के एकमात्र कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी वैशाली नगर में गरबे का बड़ा आयोजन करते हैं। अपनी सक्रियता के लिए जाने जाते हैं। पूर्व भाजपा विधायक जीतू जीराती संस्था सादगी के नाम से आयोजन करते आए हैं। हालांकि इस वर्ष वे इनसे दूर ही रहे।
खर्च: पटवारी के आयोजन पर 10 लाख का अनुमान है।

सांवेर विधानसभा
विधायक राजेश सोनकर इनसे दूर हैं। भाजपा से दावेदारी कर रहे सावन सोनकर चाचा प्रकाश सोनकर की स्मृति में हर साल कवि सम्मेलन इंदौर में कराते हैं। कांग्रेस के तुलसी सिलावट भी भोजन-भंडारे के आयोजनों से दूर रहते हैं।

सावन : चाचा की स्मृति में आयोजन पर 11 लाख खर्च का अनुमान।

महू विधानसभा
दो बार से विधायक कैलाश विजयवर्गीय ने पहले चुनाव में जमकर खर्च किया। दो नंबर की तर्ज पर भोजन-भंडारों के आयोजन किए। इस वर्ष माहौल बिलकुल अलग है। न तो भाजपा की ओर से और न ही कांग्रेस की ओर से बड़े आयोजन हुए।
कैलाश: भोजन भंडारे पर 50 लाख खर्च का अनुमान।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned