इन तीन ठग से रहें सावधान, विदेश में नौकरी का झांसा देकर ले उड़े हैं डेढ़ करोड़ रुपए

इन तीन ठग से रहें सावधान, विदेश में नौकरी का झांसा देकर ले उड़े हैं डेढ़ करोड़ रुपए

Lakhan Sharma | Publish: Sep, 04 2018 11:11:37 AM (IST) | Updated: Sep, 04 2018 01:11:51 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

- अस्पताल में भर्ती था युवक वहीं से फरार, मकान मालिक को भी बना गए मामू
- डीआईजी और हीरानगर थाने पर हुई शिकायत

लखन शर्मा, इंदौर. विदेश में नौकरी करना हर किसी का सपना होता है, लेकिन यह इतना आसान नहीं होता। एसे ही युवक युवतियों को झांसे में फंसाकर उनसे रूपए एंठने का धंधा इन दिनों जमकर चल रहा है। इंदौर से भी एसे ही तीन शातिर ठग लाखों रूपए लेकर फरार हो गए हैं, जिसकी शिकायत हीरानगर पुलिस और डीआईजी को हुई है। मामले में तीन आरोपितों की तलाश पुलिस के साथ ही फरियादी भी युद्ध स्तर पर कर रहे हंै।

दरअसल पिछले एक साल से शहर के सुखलिया क्षेत्र में विदेश में नौकरी के नाम पर तीन युवकों ने अपना मकड़ जाल फैलाया। विजय नगर, पलासिया सहित शहर के अलग अलग हिस्सों से उन छात्रों को प्लेसमेंट कंपनियों के माध्यम से खोजा जो विदेश में पढऩा चाहते हैं या नौकरी करना चाहते हैं। इन्हे 3 से 6 लाख के अलग अलग ऑफर दिए गए। कई युवक युवतियों ने 1 से देा लाख रूपए तक इन्हे दिए। एसे करीब 25 से 30 लाख रूपए इन लोगों ने इंदौर से बटोरे और दो दिनों पहले फरार हो गए। फरियादियों ने पुलिस को बताया की ये शातिर ठग कनाड़ा और दुबई भेजने के नाम पर ठगी कर गए हैं। इनके खिलाफ केरेला और बड़ोदरा में भी एफआईआर दर्ज है। केरेला से करीब 50 लाख और बड़ोदरा से लगभग 60 से 70 लाख रूपए लेकर ये फरार हुए हैं। ठगाए लोगों ने पुलिस को तीनों युवकों के नाम गुजरात निवासी निमेश पटेल, दिल्ली निवासी जयेश पटेल और वीरेन्द्र अग्रवाल बताए हैं। वीरें्रद का असली नाम भौमिक पटेल सामने आया है जो गुजरात के नाडियाल का रहने वाला है।

अस्पताल, मकान मालिक को भी लगा गए चूना

तीनों युवक अलग-लग शहरों में किराए से मकान लेकर रहते थे फिर वहां के युवकों को इसी तरह चूना लगा कर फरार हो जाते थे। इन तीनों के खिलाफ केरल और गुजरात में भी इसी तरह ठगी के प्रकरण दर्ज हैं। इस बार इन्होने इंदौर को निशाना बनाया। यहाँ ये तीनों युवक एक मकान किराए पर लेकर रह रहे थे और नौकरी के लिए परेशान हो रहे युवकों को अपना शिकार बना रहे थे। बीते कुछ दिनों से तीनों में से एक युवक बीमार होकर यहाँ एक निजी अस्पताल में अपना उपचार करवा रहा था। ठगाए गए युवक जब अस्पताल पहुंचे तब पता चला कि अस्पताल का बिल चुकाए बगैर आरोपी अस्पताल से फरार हो गया है। निवास स्थान पर चेक करने पर भी पता चला कि बगैर किराया चुकाए तीनों फरार हैं। तकरीबन 10-12 ठगाए गए युवकों ने पुलिस की शरण ली है। पता चला है की इनके साथ एक महिला भी शामिल थी, जिसके नाम के दस्तावेज देकर कम कीमत का फ्लेट १५ हजार रूपए प्रतिमाह किराए पर लिया था। जबकि महिला ने खुद को गृहणी बताया था।

- धोखाधड़ी कर हुआ फरार

इधर कनाडिय़ा थाना क्षेत्र में ही एक एसी ही घटना सामने आई। इसमें पीडि़ता भावना पति अजय शर्मा ने शिकायत की है। भावना ने पुलिस को बताया की आरोपी शहनाज निवासी दिल्ली ने मुझे नौकरी का झांसा दिया। नौकरी के नाम पर मुझसे 1550, 10 हजार और 15 हजार 880 रूपए अपने खाते में जमा करवाए। इसके बाद मुझसे 30 हजार रूपयों की और मांग की गई। जब रूपए नहीं दिए गए तो वह फरार हो गया। इस मामले में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ 420 का प्रकरण दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned