गार्डन बुक करते ठग ने खुद को बताया आर्मी कर्मचारी , फिर मोबाइल एेप से कर दी ठगी

जूनी इंदौर क्षेत्र का मामला, एेप डाउनलोड कराने के बाद खाते से निकाले 30 हजार रुपए

 

By: Krishnapal Singh

Published: 27 May 2019, 07:01 AM IST

शहर में एक बार फिर ठग ने खुद को आर्मी कर्मचारी बता एक युवक को ठगी का शिकार बनाया। उसने फोन पर बेटे के जन्मदिन के लिए गार्डन बुक करवाया। जब रुपए देने की बात आई तो उसने मोबाइल एेप पर ठगी कर दी। खाते में रुपए जमा होने के बजाए कट जाने पर गार्डन संचालक को ठगी का अहसास हुआ। इसके बाद उन्होंने अपने खाते से रुपए निकाल पुलिस से मदद मांगी।

टीआई देवेंद्र कुमार के मुताबिक फरियादी सत्यम पिता संजय निवासी खातीवालाटैंक ने आरोपी तेजकुमार नामक ठग के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है। सत्यम ने उन्हें बताया कि वे पीएससी की तैयारी कर रहे है। उनके पिता का मैरिज गार्डन है। उसे बुक करने के संबंध में ठग ने पिता के फोन पर संपर्क किया। पिता ने उक्त नंबर उन्हें दे दिया। छात्र ने जब आरोपी को फोन किया तो वह बेटे का जन्मदिन के लिए गार्डन बुक करने की बात कही। फिर कहने लगा की वह शहर के बाहर आर्मी में पदस्थ है। पेमेंट आकर नहीं दे सकता इसलिए ऑनलाइन ट्रांसफर कर देता हुं। फरियादी ने उसे खाता नंबर देकर रुपए जमा कराने को कहा, तो वह कहने लगा कि आर्मी में होने की वजह से वह ऑनलाईन एेप से रुपए ट्रांसफर कर सकता है। ठग पेटीएम की बजाए फोन पे पर रुपए ट्रांसफर करने की बात पर अड़ गया। इसके बाद फरियादी ने मोबाइल पर फोन पे डाउनलोड किया।

इस तरह कि धोखाधड़ी

सत्यम ने बताया की आरोपी इतना शातिर था की उसने फोन पे एेप पर पहले उन्हें २० हजार भेजने की प्रोसेस की। फिर अचानक उक्त रुपयों को डिकलाईन कर दिया। उक्त मैसेज उनके पास आने लगे। दो तीन बार इसी तरह उसने भेजे गए पेमेंट को रोक दिया। इस दौरान ठग ने उन्हें रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करने को कहा। फिर एक दम से ३० हजार रुपए भेजने की रिक्वेस्ट भेज दी। फोन पर मैसेज आते ही उन्होंने यस दबा दिया। इसके बाद उन्हें पता चला कि उनके खाते में रुपए आने की बजाए 30 हजार रुपए आरोपी को ट्रांसफर हो गए है। असलियत उजागर होने के बाद भी आरोपी उनसे मीठी बातें करने लगा, फिर रुपए लौटाने के लिए खुद को देश भक्त होने का वास्ता देने लगा। लेकिन फरियादी ने उसकी एक नहीं सुनी।

एेसे बचाया खुद को
सत्यम ठग की चाल समझने के बाद तुरंत एटीएम पहुंचे और कार्ड से खाते में जमा सभी रुपए विड्राल कर लौट आए। इसके बाद उन्होंने थाने पहुंच घटना की शिकायत की। उन्होंने पुलिस को बताया, आरोपी ने खुद को आर्मी में पदस्थ होने का दावा कर वाट्सएेप पर उन्हें फोटो सेंड किए। उन्होंने फोन पे नंबर व उक्त फोटो भी पुलिस को जांच के लिए दिए है।

Krishnapal Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned