एक कलाकार ऐसा भी : गरीब बच्चों और युवाओं को दे रहे नि:शुल्क ट्रेनिंग, अब प्लेटफॉर्म भी करवाएंगे उपलब्ध

Arjun Richhariya

Publish: Nov, 14 2017 12:49:50 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
एक कलाकार ऐसा भी : गरीब बच्चों और युवाओं को दे रहे नि:शुल्क ट्रेनिंग, अब प्लेटफॉर्म भी करवाएंगे उपलब्ध

गरीब बस्तियों में ढूंढ रहे वॉइस ऑफ इंडिया

इंदौर. बस्तियों और ग्रामीण इलाकों के युवाओं में भी भरपूर टैलेंट होता है, लेकिन सही प्लेटफॉर्म नहीं मिलने से ये प्रतिभाएं दम तोड़ देती हैं। ऐसी ही प्रतिभाओं को मंच देने और निखारने का बीड़ा उठाया है शहर के एक प्रोफेशनल संगीत विशेषज्ञ ने।

यहां हम बात कर रहे हैं राजीव रॉय की। पंडित भीमसेन जोशी का सान्निध्य प्राप्त कर चुके रॉय वैसे तो संगीत की कई विद्याओं का प्रशिक्षण केंद्र चलाते हैं, लेकिन अपने प्रोफेशन के अलावा वे गरीब बस्तियों और ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले बच्चों और युवाओं को भी संगीत की नि:शुल्क शिक्षा देते हैं। प्रतिभावान युवाओं को संसाधनों की कमी ना आए, इसका भी वे पूरा ध्यान रखते हैं। सेंट्रल इंडिया के श्रेष्ठ गिटार वादक कहे जाने वाले राजीव भारतीय सेना में सात साल सेवाएं दे चुके हैं।

अब शुरू करेंगे टैलेंट हंट
फिलहाल राजीव के पास धार, देवास और राजगढ़ जैसे इलाकों के छह युवा नि:शुल्क शास्त्रीय गायन के साथ गिटार और की-बोर्ड चलाना सीख रहे हैं। इसमें से कुछ का खाने और रहने का खर्च राजीव ही उठाते हैं। इसके साथ ही अब वे शहर की बस्तियों में इंदौर टैलेंट हंट शुरू करने जा रहे हैं। गरीब बस्तियों जैसे तीन इमली चौराहा, पालदा, गोमा की फैल, पंचम की फैल, सोमनाथ की जूनी चाल, कुलकर्णी का भट्टा, रुस्तम का बगीचा, लाला का बगीचा, गोटू महाराज की चाल, चंदन नगर, निरंजनपुर सहित कई स्थानों पर जाकर उन युवाओं की तलाश करेंगे, जिनमें संगीत की प्रतिभा छुपी हुई है। चुने गए बच्चों को वे तीन साल तक मुफ्त प्रशिक्षण देंगे। बच्चों को जरूरी संगीत वाद्य यंत्र व भोजन के साथ अन्य बुनियादी सुविधाएं भी उनकी ओर से दी जाएंगी। राजीव के अनुसार बच्चों को इस लायक बनाया जाएगा कि वे संगीत कला के माध्यम से खुद का नाम रोशन करें और रोजगार भी प्राप्त कर सकें। मालूम हो, राजीव से प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके कलाकार मुंबई से लेकर विदेश तक में नाम कमा रहे हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned