कचरे से बना रहे खाद, किसानों को 3 रुपए किलो मिलेगी

कचरे से बना रहे खाद, किसानों को 3 रुपए किलो मिलेगी

Arjun Richhariya | Publish: Oct, 13 2017 01:11:35 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

खाद किसानों को ब्लॉक स्तर पर 3 रुपए प्रतिकिलो व प्लांट से खुद परिवहन लाने पर खाद 2 रुपए किलो की दर से उपलब्ध होगी।

इंदौर. इंदौर सिटी कम्पोस्ट की जानकारी और उपयोग की विधि बताने के लिए सांवेर कृषि उपज मंडी प्रांगण में नगर निगम ने किसान प्रदर्शनी लगाई। इस संगोष्ठी में निगम ने 30 बैग नि:शुल्क खाद बांटी। जिन किसानों को खाद का सेंपल नहीं मिला उन्होंने निगम से करीब 50 टन खाद खरीदने की जानकारी ली। आयोजन में 300 से ज्यादा किसानों ने भाग लिया। यह खाद किसानों को ब्लॉक स्तर पर 3 रुपए प्रतिकिलो व प्लांट से खुद परिवहन लाने पर खाद 2 रुपए किलो की दर से उपलब्ध होगी।

संगोष्ठी में अपर आयुक्त रोहन सक्सेना, अध्यक्ष कृषि स्थाई समिति जिला पंचायत पुरुषोत्तम धाकड़, अध्यक्ष जनपद पंचायत सांवेर भगवान परमार, अध्यक्ष कृषि उपज मंडी समिति सांवेर दयाराम चौधरी मौजूद थे। निगम कंसल्टेंट असद वारसी व निगम उपायुक्त उद्यान कैलाश जोशी ने जैविक खाद के फायदे बताए।

कचरा गाड़ी में गौ ग्रास के लिए लगाएं डिब्बे
परशुराम सेना ने गुरुवार को नगर निगम में महापौर कक्ष के बाहर बैठकर गौ माता की रक्षा को लेकर प्रदर्शन किया। कचरा गाडिय़ों में गौ ग्रास डिब्बे लगाने और उन्हें गौशाला तक पहुंचाने की मांग को लेकर निगमायुक्त के नाम ज्ञापन दिया।
सेना के दीपक शुक्ला व अनुप शुक्ला ने कहा, शहर के आवारा पशुओं के नाम पर गौ माता को भी शहर के बाहर कर दिया है। हिंदू धर्म में प्रत्येक घर से गौ ग्रास रोजाना निकाला जाता है और गाय नहीं मिलने से गौ ग्रास घर पर ही रखने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। उन्होंने गोवर्धन पूजा के दिन प्रमुख मंदिरों में गाय माता की व्यवस्था करने की भी मांग की। महामंडलेश्वर रामगोपालदास, कैलाश खंडेलवाल, मनोज तिवारी, पवन शर्मा भी प्रदर्शन में मौजूद थे।

शपथ दिलाई, बताया स्वच्छता का महत्व

शहर के स्कूल-कॉलेजों में भी सफाई को लेकर नगर निगम ने अभियान शुरू कर दिया है। इसमें जगह-जगह जाकर स्वच्छता अभियान को लेकर छात्रों को शपथ दिलाई जा रही है। गुरुवार को महापौर मालिनी गौड़ ने निजी कॉलेज के छात्र-छात्राओं को सफाई का महत्व बताते हुए स्वच्छता की शपथ भी दिलवाई। महापौर ने स्वच्छता का महत्व बताते हुए कहा, स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में इंदौर शहर को फिर देश में नंबर वन बनाना है। छात्र-छात्राओं ने स्वच्छता सहित अन्य विषयों पर महापौर से प्रश्न भी किए गए, जिनके उन्होंने जवाब दिए।

Ad Block is Banned