#GIS: रामदेव लॉन्च करेंगे लंगोट, जेटली बोले MP में वर्ल्ड क्लास इंफ्रा

#GIS: रामदेव लॉन्च करेंगे लंगोट, जेटली बोले MP में वर्ल्ड क्लास इंफ्रा

मुख्यमंत्री अब तक के निवेश का रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत करेंगे। दोपहर बाद केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू भी शामिल होंगे।

इंदौर. मध्य प्रदेश की दो दिवसीय 5th ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट की शुरुआत शनिवार सुबह 10 बजे केंद्रीय वित्तमंत्री मंत्री अरुण जेटली ने ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में किया। केंद्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद, भारी उद्योग मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर व पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे भी मौजूद रहे। कार्यक्रम की शुरुआत में मध्यप्रदेश गान की प्रस्तुति दी गई।

मुख्यमंत्री ने निवेश का रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत करते हुआ कहा- 2 लाख 75 हजार करोड़ के निवेश जमीन पर उतर चुके है। बीते चार साल से मप्र की जीडीपी डबल डिजीट में चल रही है। मप्र को चार बार कृषि कर्मण्य अवार्ड मिल चुका है। कार्यक्रम को लेकर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट धीरे-धीरे भारत में अपना मानक बना चुकी है। मुख्यमंत्री शिवराज के नेतृत्व में प्रदेश लगातार विकास की ओर बढ़ रहा है। मध्यप्रदेश में आईटी के क्षेत्र में असीम संभावनाएं है और आने वाले समय में प्रदेश इस क्षेत्र में बहुत विकास करेगा। शिवराज ने समिट में शामिल होने के लिए हमें न्योता दिया था।


समिट में हिंदुजा बंधु पहली बार आए हैं, जबकि मुकेश अंबानी और गौतम अडानी समिट में हिस्सा नहीं ले रहे हैं।

समिट में एडीएजी के अनिल अंबानी ने कहा- 'एमपी की ग्रोथ इन्वेस्टर्स को लुभाती है। हमने यहां 6 अरब डॉलर का इन्वेस्टमेंट किया है।' 

गोपीचंद हिंदुजा ने कहा- 'भारत में इन्वेस्टमेंट के लिहाज से ये वक्त सबसे अच्छा है।' 

वहीं कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा कि आगे आने वाले समय में बिड़ला ग्रुप मध्यप्रदेश में 26 हजार करोड़ रुपए का निवेश करने की योजना बना रहा है।  



किसने क्या कहा: 
- मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, हमारे दिल में सभी के लिए जगह है। निवेश मित्र राज्य है मध्यप्रदेश। 2 लाख 75 हजार करोड़ के निवेश जमीन पर उतर चुके है। बीते चार साल से मप्र की जीडीपी डबल डिजीट में चल रही है। मप्र को चार बार कृषि कर्मण्य अवार्ड मिल चुका है।
- शिवराज सिंह चौहान ने कहा, मप्र में उद्योगों के लिए बिजली सस्ती मिलेगी। मप्र में जरूरत से ज्यादा उत्पादन कर रहे है। मध्यप्रदेश में 1.25 लाख करोड़ का लेंड बैंक है। निवेश का काम तेजी से चल रहा है।
- ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह बोले-


ये भी बोले शिवराज:
1. खनिज के मामले में MP नंबर -1 है।
2. एमपी में गुडगवर्नेंस की गारंटी।
3. जो मध्यप्रदेश में आता है वह यहीं का हो जाता है।
4. मध्यप्रदेश इन्वेस्टर्स फ्रेंडली स्टेट है।
5. एमपी में कृषि विकास दर सबसे ज्यादा।
6. दो साल में दो लाख 75 करोड़ का निवेश आया।
7. एमपी के पास सवा लाख एकड़ का लैंड बैंक है।
8. कृषि के क्षेत्र में एमपी तेजी से आगे बढ़ रहा है।
9. देश की 7.5 प्रतिशत ग्रोथ रेट।
10.एमपी में सिंगल टेबल की शुरुआत की।
11.सिंगल विंडो प्रणाली में हम आगे बढ़े।
12.एमपी में बिजली, पानी और जमीन की नहीं है कमी।
13.मध्यप्रदेश में गरीबी नहीं रहने देंगे।
14.निवेशकों को ऑनलाइन मिल रहे हैं प्रपोजल।

लंगोट भी बनाएंगे बाबा रामदेव:
-बाबा रामदेव ने कहा कि भारत अभी 25 लाख करोड़ का आयात करता है। हमें भारत को दुनिया का मैन्युफैक्चरिंग हब बनाना है। इतना निर्यात करें।
-बाबा रामदेव ने कांग्रेस सरकार पर निशाना भी साधा। शिवराज की तारीफ की, एमपी में 10 हजार को रोजगार देंगे। जिंस-कोट भी बनाएंगे। हर्बल सेक्टर में भी आएंगे।
रामदेव ने कहा, अगले 2-3 साल में किसानों को 10 हजार करोड़ का फायदा करेंगे और 10 हजार को रोजगार देंगे। अगले साल टेक्सटाइल में उतरेंगे।
- 'दूसरी कंपनियों की ग्रोथ 1 से 2 % है, पतंजलि की ग्रोथ 100% है, अगले साल हम 200% ग्रोथ करेंगे।'
- बाबा ने कहा- 'हम टेक्सटाइल्स में भी आएंगे, जीन्स के अलावा कुर्ता-पजामा, साड़ी-लंगोट भी बनाएंगे।'
- 'अगले कुछ सालों में हमारे कारोबार से एमपी के किसानों को करीब 10 हजार करोड़ रुपए का व्यापार मिलेगा।'

गोपीचंद ने भी की तारीफ
- गोपीचंद्र हिंदुजा ने कहा कि भारत में इन्वेस्टमेंट के लिहाज से यह सबसे सही वक्त है। खासतौर से मध्यप्रदेश में निवेशकों के लिए सुविधाएं और संभावनाएं बहुत अच्छी है।
- प्रमुख सचिव अंटोनी डिसा ने कहा, मध्यप्रदेश देश का दिल है, अब देश की धड़कन बन गया है। 2014 और 2016 में क्या-क्या इन्वेस्ट हुआ उसका रिपोर्ट कार्ड हम सबके सामने रखेंगे।

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में वित्तमंत्री अरुण जेटली बोले-
1. मध्यप्रदेश में विश्व स्तर की सुविधाएं हैं।
2. मध्यप्रदेश अब इंडस्ट्रीयल हब बन रहा है।
3. मध्यप्रदेश में यातायात के साधन बेहतर हैं।
4. मध्यप्रदेश तेजी से विकास कर रहा है,यहां निवेश के लिए बेहतर माहौल है।
5. एमपी में कृषि दर दो अंकों में आंकी जा रही है।
6. मप्र 13 साल पहले बीमारू राज्य था। भाजपा सरकार में इसका विकास हुआ।
7. कृषि के क्षेत्र में भी मप्र में विकास हुआ।
8. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने सीएम के रूप में मानक स्थापित किया।

यह भी पढ़ें: #GIS 2016 : मुख्य अतिथि अरुण जेटली को 4 स्टार होटल में जगह नहीं, जानिए क्यों...

दोपहर बाद केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू भी शामिल होंगे। विशाल मंच पर उद्योग जगत की करीब 100 हस्तियों को बैठाया जाएगा। इनमें अनिल अंबानी, कुमार मंगलम बिड़ला, शशि रुईया, बाबा रामदेव, योगेश्वर देवेश्वर, सुमित डालमिया, तुलसी तांती, केकेआर गुप्ता, अरुण नंदा, संजय किर्लोस्कर आदि शामिल रहेंगे। पार्टनर देश कोरिया, यूएई, यूके, सिंगापुर व जापान के मंत्रियों के साथ ही वहां के उद्योगपति, राजदूत भी आएंगे। रविवार को समापन में सुषमा स्वराज और स्मृति ईरानी शामिल होंगी।



मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान समिट को लेकर रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत करेंगे। बताया जाएगा कि समिट के दौरान हुए एमओजी में से करीब 15 प्रतिशत साढ़े 3 लाख करोड़ के निवेश का काम चल रहा है। 80 हजार करोड़ का निवेश पूरा भी हो चुका है। समिट के दौरान यह भी प्रदर्शित किया जा रहा है कि जहां वर्ष 2004-05 में उद्योगों में 53,283 करोड़ का निवेश हुआ था, वहीं वर्ष 2014-15 में बढ़कर यह 1,14,467 करोड़ का हो गया है, जो प्रदेश के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

क्या रहेगा खास:
- आज 10 बजे शुभारंभ, कल 1 बजे समापन
- 22 अक्टूबर 2016: सुबह 10 से 1 बजे तक-समिट का शुभारंभ
- सेक्टोरियल सेमिनार (दोपहर 2 बजे से)
- ईएसडीएम - विकास व रोजगार की संभावनाएं और चुनौतियां
- पैनल चर्चा - टेक्सटाइल्स इंडस्ट्रीज- रोजगार व निर्यात, मप्र में उद्योग
- सायं 3.30 बजे से : स्वास्थ्य सेवाएं मप्र में, खाद्य प्रसंस्करण, मप्र में ऑटोमोबाइल
23 अक्टूबर 2016: सुबह 9.30 से 11.45 बजे तक
- जीएसटी, कंपनी लॉ व इज ऑफ डुइंग पर सेमिनार
- पैनल चर्चा - निर्यात की संभावनाएं, नवकरणीय ऊर्जा पर सेमिनार, स्मार्ट नगरीय अधोसंरचना विकास और फाइनेंस
- दोपहर 1 बजे ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट का समापन होगा।

यह भी पढ़ें: ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट : तीन देशों के ही होंगे सेशन

देश के टॉप 50 रईसों में से दस आज इंदौर में
ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट में हिस्सा लेने के लिए फोब्र्स द्वारा घोषित टॉप-50 रईसों में 10 धनकुबेर इंदौर आ रहे हैं। सीईओ कॉनक्लेव के बाद मिले प्रारंभिक रुझान के अनुसार सभी ने दोनों हाथ खोलकर प्रदेश में निवेश की इच्छा जताई है। देश के तीसरे अमीर हिंदुजा बंधुओं को इंदौर इतना पसंद आया कि हाथोंहाथ ही यहां प्लांट लगाने की घोषणा कर दी। देश के सबसे अमीर मुकेश अंबानी के हिंदुजा ग्रुप की पसंद बने इंदौर में दुनिया में अपने व्यावसायिक माहौल का डंका बजाया है।

यह भी पढ़ें: ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट : किआ से करार को बेकरार सरकार

हिंदुजा ग्रुप:

गोपीचंद हिंदुजा
फोर्ब्स  रैंकिंग :  3
वर्थ : (1.01 लाख करोड़ रुपए)
--------------------------------------------
बिड़ला फैमिली:
कुमार मंगलम बिड़ला
फोर्ब्स  रैंकिंग :  9
वर्थ : (58 हजार 960 करोड़ रुपए) 
--------------------------------------

brilliant convention centre

मित्तल फैमिली:
राकेश मित्तल
फोर्ब्स  रैंकिंग :  12  
वर्थ : (44 हजार 220 करोड़ रुपए)
--------------------------------------------
रूईया फैमिली:
अंशुमान रूईया  
फोर्ब्स  रैंकिंग :  16  
वर्थ : (38 हजार 860 करोड़ रुपए )
--------------------------------------------
गुप्ता (ल्यूपिन)
केकेआर गुप्ता  
फोर्ब्स  रैंकिंग :  20  
वर्थ : (34 हजार 170 करोड़ रुपए)
--------------------------------------------
मुंजाल (हीरो ग्रुप)
मुंजाल  
फोर्ब्स  रैंकिंग :  29  
(24 हजार 455 करोड़ रुपए)
--------------------------------------------
रिलायंस
अनिल अंबानी   
फोर्ब्स  रैंकिंग :  32   
(22 हजार 780 करोड़ रुपए))
--------------------------------------------
पिरामल ग्रुप
अजय पिरामल    
फोर्ब्स  रैंकिंग :  35    
(21 हजार 775 करोड़ रुपए)
--------------------------------------------
राहेजा ग्रुप
राजन राहेजा     
फोर्ब्स रैंकिंग :  45    
(17 हजार 085 करोड़ रुपए)
--------------------------------------------
पतंजलि
आचार्य बालकृष्णा      
फोर्ब्स रैंकिंग :  48    
(16 हजार 750 करोड़ रुपए)

gis -2016



MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned