पखावज की जुगलबंदी और गायन के गंभीर स्वरों से हुआ शनिदेव का स्वराभिषेक

शनि मंदिर में शनि जयंती संगीत समारोह

इंदौर. जूनी इंदौर स्थित शनि मंदिर में शनैश्चर जयंती अखिल भारतीय संगीत समारोह रविवार रात मंदिर प्रांगण में प्रारंभ हुआ। पहले दिन तीन प्रस्तुतियां दी गईं। शुरुआत पंचम निषाद संगीत संस्थान के विद्यार्थियों के सामूहिक गायन से हुई। इसके बाद शहर के दो प्रतिभाशाली पखावज वादक गोस्वामी दिव्येश कुमार और विट्ठल राजपुरा ने जुगलबंदी पेश की और अंत में पुणे से आए गायक निर्भय सक्सेना ने शास्त्रीय गायन प्रस्तुत किया।
पंचम निषाद संगीत संस्थान की वैभवी कुलकणी, मीनल मोढ, स्मिता, रेणु तिवारी और अर्नाता भास्कर ने राग शिव अभोगी में एक बंदिश रूपक ताल में पेश की। इस राग में इन युवा कलाकारों ने अपनी गुरु शोभा चौधरी रचित बंदिश गाई, आए दरबार शरण तिहारी...। इसके बाद पंडित सीआर व्यास की एक बंदिश द्रुत लय में गाई। हारमोनियम पर रचना शर्मा ने और तबले पर मुकेश रासगाया ने संगत की।
समारोह की दूसरी प्रस्तुति देने दिव्येश कुमार और वि_ल राजपुरा मंच पर आए। पखावज की पारंपरिक ताल चौताल में विलंबित लय से जुगलबंदी की शुरुआत की। दोनों कलाकारों ने गुरु परन बजाकर अपने गुरु गोस्वामी देवकीनंदन महाराज को नमन किया और फिर धीट धीट की लयकारी, पखावज के बोलों और फरमाइशी परन को बड़ी स्पष्टता के साथ बजाया।
पखावज पर धूमकिट व गज परन की लयकारी ने श्रोताओं को आनंदित किया। दोनों ने चौताल की सम मात्राओं के साथ कुल २४ परनों का स्पष्ट वादन किया। दोनों कलाकारों ने राधा-कृष्ण की नृत्य परन के जरिए नृत्य अंग से भी पखावज बजाया। अंतिम चरण में धाराप्रवाह रेले और झाले की लयकारी पेश की। इस जुगलबंदी में हारमोनियम पर मनोज बावरा और वॉयलिन पर पूर्णिमा राजपुरा ने संगत की। कार्यक्रम का समापन पुणे के निर्भय सक्सेना के शास्त्रीय गायन से हुआ। पं. उल्हास कशालकर और विदुषी गिरिजा देवी के शिष्य निर्भय सक्सेना ने अपने धीर-गंभीर गायन से संगीत प्रेमियों को प्रभावित किया। उन्होंने राग बागेश्री चुना और प्रभावी आलाप के साथ बंदिशें पेश कीं। सुरीली तानों के जरिए उन्होंने राग का विस्तार किया। उनके साथ हारमोनियम पर डॉ. विवेक बंसोड़ और तबले पर उल्हास राजहंस ने संगत की।

indore shani temple music concert
राजेश मिश्रा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned