हद कर दी आपने...तुम्ही से सम्मान...तुम्ही से शर्मसार!

हद कर दी आपने...तुम्ही से सम्मान...तुम्ही से शर्मसार!

Uttam Rathore | Publish: Sep, 05 2018 11:03:22 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

गोगानवमी पर निकले जुलूस के दौरान जमकर फैलाई गंदगी, निगमायुक्त और स्वच्छता अभियान से जुड़े एनजीओ व निजी संस्थाओं के सदस्यों ने झाड़ू उठाकर सफाई की

इंदौर.
स्वच्छता में शहर को पूरे देश में सम्मान दिलाने वाले नगर निगम स्वास्थ्य विभाग में तैनात वाल्मीकि समाज के लोगों ने कल शर्मसार कर दिया। वीर गोगादेव के जन्मोत्सव यानी गोगानवमी पर रात को निकले छड़ी निशान के दौरान जमकर गंदगी और कचरा फैलाया। आज सुबह राजबाड़ा क्षेत्र सहित पंढरीनाथ स्थित गोगादेव मंदिर के आसपास और पूरे जुलूस मार्ग पर कचरा फैला नजर आया।

सवाल उठ रहे हैं कि निगम जब सार्वजनिक रूप से कचरा फेंकने पर स्पॉट फाइन यानी चालान बना रहा है, तो इन जुर्माना होगा या नहीं? अगर होगा तो कौन करेगा? क्योंकि पूरे शहर में गंदगी और कचरा फैलाने पर स्पॉट फाइन प्रभारी मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक (सीएसआइ) ही कर रहे हैं, जोइसी समाज से जुड़े हैं। शहर में निकलने वाले अन्य समाजों के जुलूस, धार्मिक यात्राओं सहित होने वाले आयोजनों के दौरान गंदगी और कचरा फैलाने पर निगम तत्काल हजारों रुपए का स्पॉट फाइन कर देता है, लेकिन वाल्मीकि समाज के मामले में निगम अफसरों ने मौन धारण कर लिया है।

इधर, सफाईकर्मियों के छुट्टी पर होने से आज सुबह शहर में सफाई अभियान चलाने की प्लानिंग करने वाले निगम अफसरों ने महापौर मालिनी गौड़ को अवगत नहीं कराया। इस पर उन्होंने निगमायुक्त से लेकर अन्य अफसरों के खिलाफ नाराजगी जताई है।

निजी संस्थाओं के साथ आयुक्त ने उठाई झाड़ू
गोगानवमी के चलते सफाईकर्मी आज अवकाश पर हैं। इस कारण शहर के कई इलाकों में सफाई व्यवस्था प्रभावित हुई। डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन के साथ शहर के व्यापारिक सहित अन्य क्षेत्रों में सफाई व्यवस्था प्रभावित न हो, इसलिए आज सुबह 6.30 बजे से निगमायुक्त आशीष सिंह, अधीक्षण यंत्री महेश शर्मा और स्वच्छता अभियान से जुड़े एनजीओ व निजी संस्थाओं के सदस्यों ने झाड़ू उठाकर सफाई की। राजबाड़ा सहित पंढरीनाथ में सफाई अभियान चलाया गया, क्योंकि गोगानवमी के चलते इन क्षेत्रों में जुलूस निकलने के चलते जमकर गंदगी और कचरा फैलाया गया।

क्यों नहीं लेते सीख?
स्वच्छता सर्वे-2017 और 2018 में दिन-रात मेहनत कर निगम स्वास्थ्य विभाग के स्थायी और अस्थायी मिलाकर करीब 6500 सफाईकर्मियों ने इंदौर को देश में अव्वल बनाया। स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक किया। नतीजा कई समाज के लोगों ने अपने जुलूस और यात्राओं के दौरान सफाई के लिए अलग से टीम लगाना शुरू किया। सड़क पर कचरा होने पर तत्काल उठाया। स्वच्छता के मामले में दूसरों को सीख देने वाला वाल्मीकि समाज इस बात को आत्मसात नहीं करता, क्योंकि हर साल गोगानवमी पर निकलने वाले जुलूस के बाद यही हालात बनते हैं।

नहीं आए हेल्पर
सफाईकर्मियों भले ही छुट्टी पर रहे, लेकिन कचरा लेने के लिए डोर-टू-डोर वाहन निकालने की व्यवस्था निगम ने की। 550 ड्राइवरों व हेल्परों को बुलाया गया। ड्राइवर तो वाहन लेकर पहुंच गए, लेकिन हेल्पर नहीं आए। निगमायुक्त सिंह को जानकारी लगी, तो उन्होंने एनजीओ के लोगों को हेल्पर के रूप में लगाया।

 

Cleanliness campaign

फोटो खिंचवाने के लिए चलाया होगा सफाई अभियान
शहर में सफाई कौन कर रहा और सफाईकर्मियों के छुट्टी पर होने से कौन अभियान चला रहा है, इस बारे में मुझे कुछ नहीं पता। निगमायुक्त ने भी कुछ नहीं बताया। फोटो खिंचवाने के लिए सफाई अभियान चल रहा होगा। अफसरों ने अपनी मर्जी से सफाई अभियान चलाना तय कर लिया, वहीं शहर की सफाई करने उतरे निजी संस्थाओं के लोगों ने भी संपर्क नहीं किया। रही बात गोगानवमी पर निकले जुलूस के दौरान गंदगी और कचरा फैलाने पर जुर्माना करने की, तो मामले में विचार कर कार्रवाई की जाएगी।
- मालिनी गौड़, महापौर

कहां चूक हुई, दिखवाता हूं
मेरी जानकारी में आया था कि महापौर को हमने सूचना दे दी है। कहां चूक हुई, दिखवाता हूं। सफाईकर्मियों के छुट्टी पर होने से शहर में रहवासी संघ, निजी संस्थाओं और एनजीओ के सहयोग से अभियान चलाकर सफाई कराई गई। गंदगी और कचरा फैलाने पर स्पॉट फाइन करने के मामले में अभी कुछ नहीं
कह सकता।
- आशीष सिंह, निगमायुक्त

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned