scriptGold and silver prices fell due to the fall in the international marke | अंतरराष्ट्रीय बाजार में गिरावट से सोना-चांदी के दाम गिरे | Patrika News

अंतरराष्ट्रीय बाजार में गिरावट से सोना-चांदी के दाम गिरे

इंदौर में चांदी 1000 रुपए सस्ती, सोना 275 रुपए सस्ता हुआ

इंदौर

Published: April 30, 2022 05:39:39 pm

इंदौर. सोना-चांदी की कीमतों में तेजी-मंदी का दौर चल रहा है, जिससे बाजार में ग्राहकी प्रभावित हो रही है। शनिवार को वैश्विक बाजार में दाम गिरने से घरेलू बाजार में सोना-चांदी के भाव घट गए। कॉमेक्स पर सोना ऊपर में 1921.40 डॉलर प्रति औंस जाने के बाद यह 1897.70 डॉलर प्रति औंस रहा। चांदी ऊपर में 23.85 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार किया बाद में यह 22.85 डॉलर प्रति औंस पर रही। इंदौर सराफा बाजार बंद भाव में : सोना कैडबरी (99.50) 53275 रुपए प्रति दस ग्राम। चांदी (एसए) 65100 रुपए प्रति किलो रही। आरटीजीएस में सोना कैडबरी 52175 रुपए प्रति दस ग्राम। चांदी (एसए) चौरसा 65400 रुपए किलो रही। चांदी सिक्का 750 रुपए प्रति नग रहा।
इस दौरान दुनियाभर में सोने की मांग 34 फीसदी बढक़र 1,234 टन रही। इसकी प्रमुख वजह गोल्ड ईटीएफ की मांग में मजबूत बढ़ोतरी है। आंकड़ों के मुताबिक, इस दौरान भारत में मूल्य के हिसाब से भी सोने की मांग 12 फीसदी घटकर 61,550 करोड़ रुपये रह गई। 2021 की समान अवधि में भारतीयों ने 69,720 करोड़ रुपये का सोना खरीदा था। इस साल देश में सोने की मांग 800-850 टन रहने का अनुमान है।
अंतरराष्ट्रीय बाजार में गिरावट से सोना-चांदी के दाम गिरे
अंतरराष्ट्रीय बाजार में गिरावट से सोना-चांदी के दाम गिरे
सोने की कीमतें जनवरी में बढ़ीं
भू-राजनीतिक तनाव के कारण जनवरी में सोने की कीमतें (बिना टैक्स) 8 फीसदी बढक़र 45,434 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गई थीं। 2021 की समान अवधि में 10 ग्राम सोना 42,045 रुपये रहा था। इस दौरान वैश्विक स्तर पर सोने की कीमतें 2,070 डॉलर प्रति औंस रहीं।
आभूषणों से भी मोह भंग
जनवरी-मार्च में आभूषणों की मांग भी 26 फीसदी कम होकर 94.2 टन रह गई। 2021 की समान तिमाही में लोगों ने 126.5 टन आभूषण खरीदे थे। मूल्य के लिहाज से आभूषणों की मांग 20 फीसदी कम होकर 42,800 करोड़ रुपये रही।
आरबीआई लगातार खरीद रहा सोना-आरबीआई लगातार सोना खरीद रहा है। जनवरी-मार्च के दौरान केंद्रीय बैंक ने आठ टन सोना खरीदा है। 2017 से अब तक इसने 200 टन सोने की खरीदारी की है।
तीसरी बार 100 टन से कम रही मांग
महामारी की अवधि को छोडक़र 2010 से लेकर अब तक सिर्फ तीन बार ही ऐसा हुआ, जब पहली तिमाही में सोने की मांग 100 टन से कम रही है। हालांकि, निवेश के लिहाज से सोने की मांग 5 फीसदी बढक़र 41.3 टन रही। भारतीयों ने सोने में 18,750 करोड़ निवेश किया, जो पिछले साल से 13 फीसदी ज्यादा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: पावर प्ले में बैंगलोर ने बनाए 1 विकेट के नुकसान पर 46 रनपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.