एक ही मेल और मोबाइल नंबर से सामने आया आरोपी, कंपनियों से भी वसूले 2 करोड़

जीएसटी के आन लाइन सिस्टम से ट्रेस हुआ घोटाला

इंदौर, सिटी रिपोर्टर।

जीएसटी में इनपुट टैक्स क्रेडिट और फर्जी ई-वे बिल घोटाले में सेंट्रल एक्साइज और वाणिज्यिक कर विभाग के हाथ लगे आरोपी जगदीश कानानी से कड़ी पूछताछ की जा रही है। जिससे और भी मास्टर माइंड तक पहुंचा जा सकें। दोनों विभाग की टीमें आरोपी से समान नंबर और ई-मेल आइडी के लोगों के बारे में पूछताछ कर रही है, जिससे इस चैन में शामिल और भी कंपनियों के मालिकों और आइटीसी क्रेडिट का लाभ लेने वालों तक पहुंचा जा सकें। दूसरी ओर विभाग ने फायदा लेने वाली कंपनियों से वसूली भी शुरू करते हुए वास्तविक कर पेनल्टी और ब्याज के साथ की जा रही है। अब तक ४ से ज्यादा कंपनियां २ करोड़ रुपए से अधिक का टैक्स जमा भी करवा चुकी है। कानानी की कंपनियों से ही ४० करोड़ से ज्यादा की आइटीसी वसूली सामने आइ है, यह राशि और बढ़ सकती है। विभाग की जांच में अब तक १२०० करोड़ से ज्यादा की हेराफेरी सामने आइ है।

सुधीर पंडित
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned