खुशखबरी - 298 किमी का बनेगा नेशनल हाईवे, खरगोन और गुजरात का होगा सीधा संपर्क

हालोल से आलीराजपुर, कुक्षी होते खरगोन से जुड़ेगा गुजरात मार्ग, करीब साढ़े 4 हजार करोड़ में बनेगा 298 किमी का नेशनल हाईवे

सर्वे शुरू, प्रभावित गांव की जानकारी देने के लिए कंसल्टेंट कंपनी ने किया अपर कलेक्टर से संपर्क

धार. देश को सडक़ मार्ग से माला में पिरोने वाली भारतमाला परियोजना के तहत मप्र को गुजरात से जोडऩे वाले एक अहम् नेशनल हाईवे का सर्वे शुरू हो चुका है। गुजरात के हालोल से आलीराजपुर, धार, बड़वानी, अंजड़ (राजपुर), जुलवानिया होते हुए 298 किमी का सफर तय कर यह मप्र के खरगोन जिले को जोड़ेगा। यह हाईवे फोरलेन होगा, जिसकी लागत करीब साढ़े 4 हजार करोड़ रुपए आंकी जा रही है। डिजाइन लेकर कंसल्टेंट कंपनी के एक कर्मचारी ने बुधवार को अपर कलेक्टर से मुलाकात की। इसके साथ कर्मचारी ने अपर कलेक्टर डीके नागेंद्र को जिले के उन प्रभावित गांव की सूची भी मुहैया कराई, जहां से यह नेशनल हाईवे गुजरेगा। हालांकि अभी डीपीआर तैयार होना है, लेकिन प्राथमिक सर्वे के आधार पर इसकी कीमत साढ़े 4 हजार करोड़ रुपए बताई जा रही है।


डही, कुक्षी, मनावर से गुजरेगा हाईवे: 298 किमी का नया नेशनल हाईवे धार जिले की डही, कुक्षी और मनावर तहसील से होकर गुजरेगा। इसमें जिले के कुल 39 गांव प्रभावित होंगे। इसमें सबसे बड़ा हिस्सा कुक्षी तहसील का है। कुक्षी तहसील के 34 गांव से गुजरने वाले नेशनल हाईवे में सैकड़ों किसानों की बेशकीमती जमीन अधिग्रहित होगी। नए नेशनल हाईवे को अभी नंबर आवंटित नहीं किया जा सका है, लेकिन कंसल्टेंट कंपनी के अधिकारी प्रेम शर्मा के अनुसार इसमें करीब 7 बायपास होंगे।


98 किमी का पेंच
हालोल से खरगोन तक बनने वाले नए नेशनल हाईवे में आलीराजपुर से बड़वानी का ९८ किमी का रोड पहले से एमपीआरडीसी के अधीन है। यह टोल रोड है। अभी इसकी अवधि 2032 तक बताई जा रही है, जिसके चलते इसे छोडऩा पड़े। वर्तमान में यह टू लेन रोड है, जिसे नेशनल हाईवे में शामिल करने के लिए बीओटी पर संचालित निर्माण कंपनी को राशि लौटाना पड़ेगी और इसके लिए फिलहाल नेशनल हाईवे अथॉरिटी तैयार नहीं है। फिर भी इस मसले पर एक बार और चर्चा करने की बात कही जा रही है। बता रहे हैं कि नए नेशनल हाईवे की इस वर्ष के आखिर तक सर्वे के बाद डीपीआर तैयार हो जाएगी और 2019 में काम शुरू होने की संभावना है। सडक़ निर्माण में तीन वर्ष लगने का अनुमान लगाया जा रहा है।

अभी कुछ कहना मुनासिब नहीं
& अभी सर्वे का काम चल रहा है और इसके बाद डीपीआर तैयार होगी। अभी से इस हाईवे के बारे में कुछ भी कहना मुनासिब नहीं होगा, लेकिन 2019 तक इसका काम शुरू हो जाएगा।
-रवींद्र गुप्ता, प्रोजेक्ट डायरेक्टर, एनएचए

दस्तावेज जमा कराए हैं
& कंसल्टेंट कंपनी से कर्मचारी आया था। नए नेशनल हाईवे के बारे में कुछ दस्तावेज जमा कराए हैं। समझकर ही कुछ बता पाएंगे।
-डीके नागेंद्र, अपर कलेक्टर, धार

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned