scriptGun is not the right to operate but how will the protection of forests | जंगल पर खतरा बताकर देखते ही देखते लगा दिया बंदूकों का ढेर... जानिए क्यों हुआ ऐसा | Patrika News

जंगल पर खतरा बताकर देखते ही देखते लगा दिया बंदूकों का ढेर... जानिए क्यों हुआ ऐसा

- अगर गोली चलाने का अधिकार नहीं है तो इन बंदूकों से कैसे की जा सकती है जंगलों की सुरक्षा

- लटेरी में हुए गोलीकांड में डीएफओ व कर्मचारियों पर हुई कार्रवाई का कर रहे विरोध, विभाग से मिली बंदूके लौटाने पहुंच गए नाराज वनकर्मी

 

इंदौर

Published: August 16, 2022 07:55:06 pm

इंदौर.
विदिशा के लटेरी में बीते दिनों हुई घटना से प्रदेशभर के वनकर्मियों में आक्रोश है। मंगलवार को इंदौर रेंज के वनकर्मी भी अपनी बंदूके लेकर मुख्यालय पहुंचे। बंदूके लौटाने की बात कहते हुए उन्होंने देखते ही देखते इनका ढेर लगा दिया। वनकर्मियों का कहना था कि हमें बंदूके सिर्फ दिखाने के लिए ही दी गई है। अगर गोली चलाने का अधिकार नहीं है तो इन बंदूकों से जंगलों की सुरक्षा कैसे की जा सकती है? इस दौरान वनमंत्री विजय शाह भी वहां पहुंच गए। वनकर्मियों ने मंत्री ने कहा कि जंगलों को नुकसान पहुंचाने वालों पर कार्रवाई के बजाय सरकार इन्हें प्रोत्साहित कर रही है। मंत्री ने मुख्यमंत्री से इस संबंध में चर्चा करने का आश्वासन दिया है।
मालूम हो, पिछले मंगलवार को लटेरी में लकड़ी तस्करी की आशंका में चलाई गोली से एक आदिवासी की मौत हुई है। तीन आदिवासी घायल है। इस मामले में विदिशा डीएफओ का तबादला करते हुए कर्मचारियों को सस्पेंड किया गया है। इसे लेकर प्रदेशभर के वनकर्मियों में भारी नाराजगी है। इससे पूर्व इंदौर रेंज के चोरल में भी एक कार्रवाई के बाद रेंजर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जा चुकी है। मंगलवार दोपहर 12 बजे रेंज के वनकर्मी और अधिकारी नवरतन बाग स्थित मुख्यालय पहुंचे और अपनी बंदूके जमा करने की पेशकश की। इनमें प्रमुख तौर से रेंजर रविकांत जैन, पीएस चौहान, सचिन वर्मा, योगेश यादव और जिलाध्यक्ष दिनेश शर्मा शामिल थे। डीएफओ नरेंद्र पंडवा ने उन्हें नियमानुसार सहयोग प्रदान कराने के लिए आश्वस्त किया। डीएफओ की समझाईश के बाद वनकर्मी अपनी बंदूके लेकर काम पर लौटे।
जंगल पर खतरा बताकर देखते ही देखते लगा दिया बंदूकों का ढेर... जानिए क्यों हुआ ऐसा
जंगल पर खतरा बताकर देखते ही देखते लगा दिया बंदूकों का ढेर... जानिए क्यों हुआ ऐसा

बढ़ाए जांगे वनकर्मियों के अधिकारी
वनमंत्री विजय शाह ने वनकर्मियों को समझाईश देने के उपरांत मीडिया से चर्चा की। उन्होंने कहा, जंगलों की सुरक्षा को लेकर बुधवार को मुख्यमंत्री से चर्चा की जाएगी। जंगल सुरक्षित रखने के लिए वनकर्मियों के अधिकार भी बढ़ाएंगे। वन समिति के सदस्य भी बराबरी से इस काम में जिम्मेदारी निभाएंगे। गोली चलाने के मामले पर शाह बोले कि बंदूके अपराधियों को डराने के लिए दी जाती है। मगल ताजा घटना से प्रतीत हो रहा है कि अपराधियों के हौंसले बहुत बुलंद हो चुके है। हम घटनाक्रम की न्यायिक जांच करवा रहे है।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

जम्मू-कश्मीर: उधमपुर धमाके के लिए फॉरेंसिक एक्सपर्ट के NIA की टीम रवाना, आतंकी साजिश की आशंकाआज से 2 दिन के गुजरात दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी, 29 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाओं की देंगे सौगातNew CDS: रिटायर्ड ले. जनरल अनिल चौहान को मिली CDS की कमान, अजीत डोभाल के करीबी और आतंकवाद पर लगाम लगाने में हैं माहिरहाई कोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव आज, इन दिग्गजों में होगी टक्करमहंगी हुई मिठाइयां, कीमतों में 5 प्रतिशत की तेजीसरकारी कर्मचारियों का गहलोत सरकार ने बढ़ाया डीए, दिवाली से पहले बड़ा तोहफापद्मश्री राम सुतार बनाएगें अयोध्या में लगाने वाली विश्व की सबसे ऊंची श्री राम की मूर्ति.....जाने कब होगा स्थापितबारिश से जर्जर मकान, ले डूबा चार मासूमों की जान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.