स्वास्थ्य विभाग ‘बीमार’

कार्यालय की छत से टपक रहा पानी : आग से जल चुका फर्नीचर-फाइलें भी नहीं हटीं

By: रमेश वैद्य

Published: 27 Jul 2021, 07:34 PM IST

इंदौर. शहर की सेहत का जिम्मा संभाल रहे स्वास्थ्य विभाग पिछले तीन माह से खुद ही बीमारी की चपेट में है। कार्यालय की छत टपक रही और कबाड़ इतना कि पैर रखने की जगह नहीं है। कोरोना संक्रमण की पहली और दूसरी लहर से निपटने में जहां विभाग की जिम्मेदारी सबसे ज्यादा थी, वहीं अपने ही कार्यालय की मरम्मत में विभाग अब तक जिम्मेदारी तय नहीं कर पाया है।
एमटीएच कम्पाउंड स्थित मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा कार्यालय की पहली मंजिल पर 23 अप्रैल की रात आग लग गई थी। इस अग्निकांड को हुए तीन माह बीत चुके हैं, लेकिन अब तक न तो सिर्फ यहां से जल चुका फर्नीचर-फाइलें उठवा सका है और न ही आग की वजह से जल चुकी छत की मरम्मत करवा पाया है। पहली मंजिल पर जो कर्मचारी बैठा करते थे, अब उन्हें भी बैठने के लिए तल मंजिल पर जगह ढूंढऩा पड़ रही है। विभाग की इस हालत को लेकर अब तक जिम्मेदारों ने भी कोई सुध नहीं ली है। अग्निकांड में स्थापना और वित्त शाखा पूरी तरह स्वाहा हो गई थी। पुराना रिकॉर्ड पूरी तरह जलकर खाक हो गया था, लेकिन अब तक इसे भी फिर से हासिल करने के लिए कोई वैकल्पिक उपाय नहीं किए गए हैं।
बारिश ने बढ़ा दी मुश्किलें
आग की वजह से कार्यालय की ऊपरी मंजिल के दो कमरे पूरी तरह स्वाहा हो चुके हैं। यहां तक की छत भी पूरी तरह जल चुकी है और आसमान दिखने लगा है। ऐसे में बारिश ने मुश्किलें बढ़ा दी हैं। बारिश का पानी अब कार्यालय के अन्य कमरों से होता हुआ तल मंजिल तक पहुंचने लगा है।
अब तक नहीं लिखा पत्र
विभाग की इस खस्ताहालत को लेकर अब तक विभाग के जिम्मेदारों ने भी कोई कार्रवाई नहीं की है। फिर से छत और कमरों के रंगरोगन और छत के फिर से निर्माण को लेकर लोक निर्माण विभाग को कोई पत्र नहीं भेजा गया है।
सफाई तक नहीं करवाई
विभाग ने कार्यालय की हालत सुधारना तो दूर जल चुके फर्नीचर और फाइलों की राख तक उठाने में दिलचस्पी नहीं दिखाई है। वर्षों पुरानी कई फाइलों की राख अब भी पहली मंजिल पर जगह-जगह बिखरी हुई है। इसमें कई विभागीय कर्मचारियों के सेवा रिकॉर्ड के साथ ही कई निजी अस्पतालों से जुड़ी फाइलें भी हैं।
बैठने के लिए नहीं पर्याप्त स्थान
पहली मंजिल के अब तक पुर्ननिर्माण नहीं होने की वजह से यहां बैठने वाले कर्मचारियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पहली मंजिल पर कुल 5 शाखाओं का काम ठप्प पड़ गया है। यहां बैठने वाले कर्मचारी अब तल मंजिल पर जगह ढूंढते नजर आते हैं।

कार्यालय के जल चुके हिस्सों की मरम्मत जल्द ही करवाई जाएगी। इसे लेकर संबंधित विभाग को पत्र लिखकर काम शुरू करने के लिए कहा जा रहा है।
-डॉ. बीएस सैत्या, सीएमएचओ

रमेश वैद्य Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned