तेज बारिश से रातभर में गिरा 2.5 इंच पानी, MP के लिए भारी बारिश का अलर्ट

तेज बारिश से रातभर में गिरा 2.5 इंच पानी, MP के लिए भारी बारिश का अलर्ट

Hussain Ali | Updated: 03 Jul 2019, 12:16:16 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

रात 11 बजे बाद बारिश तेज बारिश शुरू हो गई। इसके बाद रुक-रुककर रातभर बारिश होती रही और पूरे शहर को तरबतर कर दिया।

इंदौर. मानसून ( monsoon ) की आमद देरी से हुई और इसके बाद बारिश की बेरुखी ने चिंता की लकीरें खींच दी थीं, लेकिन कल शाम को बदले मौसम के बाद रात में जो झमाझम बारिश ( heavy rain ) शुरू हुई तो सुबह तक चलती रही और अब भी मौसम वैसा ही बना हुआ है। मौसम विभाग ने भी पुष्टि करते हुए पश्चिमी मध्यप्रदेश ( madhya pradesh ) के लिए अलर्ट जारी किया है। इंदौर में रातभर में करीब 2.5 इंच पानी गिर गया है।

कल दिन में तो धूप निकली हुई थी और लोग उसम से परेशान थे, लेकिन शाम से मौसम में बदलाव आना शुरू हुआ और 10 बजे तक तो घने बादल आसमान में छा गए थे। इसके बाद लग रहा था कि कभी बारिश हो सकती है। रात 11 बजे बाद बारिश तेज बारिश शुरू हो गई। इसके बाद रुक-रुककर रातभर बारिश होती रही और पूरे शहर को तरबतर कर दिया। हर तरफ सडक़ों पर पानी भर गया और शहर के नदी-नालों में उफान आ गया। मौसम केंद्र का कहना है कि बंगाल की खाड़ी की तरफ से बना सिस्टम पूरे प्रदेश पर सक्रिय है और पश्चिमी मध्यप्रदेश में तो आज भी भारी बारिश की संभावना है। इसके लिए पश्चिमी मध्यप्रदेश में तो रेड अलर्ट जारी किया गया है, इससे मालवांचल का भी कुछ हिस्सा प्रभावित होगा। इंदौर में बारिश को लेकर अलर्ट पर रखा गया है।

indore

गौतमपुरा में 8.75 इंच

इंदौर शहर में कल रात करीब ढाई इंच (61.8 मिमी) बारिश हुई है। इस तरह इंदौर में अब तक सात इंच (180 मिमी) से ज्यादा बारिश हो चुकी है, जो पिछले साल से करीब दो इंच ज्यादा है। बारिश के आंकड़ों में फिलहाल गौतमपुरा के बाद इंदौर तहसील ही आगे चल रही है। गौतमपुरा में अब तक 8.75 इंच बारिश हो चुकी है।इसके अलावा आसपास के सभी इलाकों में इंदौर से कम बारिश हुई है। जिले की बात करें तो इंदौर जिले में कल रात 1.7 इंच और अब तक कुल 6.9 इंच बारिश हुई है।

बारिश में जाम से निपटने का नया प्लान

indore

बरसात का मौसम शुरू होते ही ट्रैफिक जाम की समस्या एक बार फिर से गंभीर रूप लेगी। इसके चलते ट्रैफिक पुलिस ने प्लान बनाकर काम शुरू कर दिया है। सिग्नल बंद होने के कारण चौराहों पर लगने वाले जाम को रोकने के लिए जवानों को तैयार रहने के लिए कहा गया है। वहीं अगर कहीं जाम लगता भी है तो उसे किस तरह से खत्म करना है, इसके लिए डायवर्शन प्लान बनाए गए हैं। बरसात में बिजली बंद हो जाने के चलते सिग्नल बंद हो जाते हैं। वहीं सडकों पर पानी भरने की समस्या के कारण भी गाडिय़ों को निकलने के लिए कम जगह मिलती है। इसके चलते जाम लगना शुरू हो जाता है। एक चौराहे से शुरू होने के बाद आगे तक दूसरे रास्तों को भी प्रभावित करता है।

'पुलिस के जवान भी रहेंगे अलर्ट

डीएसपी बसंत कौल ने बताया कि बरसात में सडक़ों पर कारों की संख्या काफी बढ़ जाती है। इसके चलते भी जाम के हालात बनते हैं। इससे निपटने के लिए सिपाहियों को तैयार रहने के लिए कहा गया है। बिजली जाने पर सिग्नल तो बंद होंगे ही, इसे मैनुअल ही चलाया जा सकता है। इसके चलते पुलिसकर्मियों को तैयार रहने के लिए कहा गया है। अगर उन्हें परेशानी होती है तो वहां पर दूसरे जवान और अफसरों को भी तैनात किया जाएगा। इसके बाद भी जाम के हालात बनते हैं तो उसके लिए डायवर्शन प्लान तैयार किया गया है, जो कि जरूरत पडऩे पर लागू किया जाएगा। फिलहाल तो पीएस सिस्टम से अलाउंस कर व्यवस्था बनाई जा रही है। इसके साथ ही दुपहिया वाहन चालकों को भी हिदायत दी जा रही है कि वे गाड़ी चलाने में सावधानी रखें, क्योंकि बारिश में गाड़ी फिसलने से कई हादसे हो जाते हैं।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned