मौसम विभाग ने दी अगले 48 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी, सुबह से काले बादलों का डेरा

मौसम विभाग ने दी अगले 48 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी, सुबह से काले बादलों का डेरा

Astha Awasthi | Publish: Jul, 13 2018 03:06:48 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

मौसम विभाग ने दी अगले 48 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी, सुबह से काले बादलों का डेरा

इंदौर। मानसून ने बीते कई दिनों पहले ही मध्य प्रदेश में दस्तक दे दी है। बारिश के बाद से कई जिलों में जनजीवन प्रभावित हो गया है। बीते दिनों राजधानी भोपाल में 10 घंटे में 4 इंच बारिश हुई । वहीं बात अगर इंदौर की करें तो शहर में तीन घंटे में 2.7 इंच बारिश हुई। बारिश के बाद कई इलाके जल मग्न हो गए। मौसम विभाग की माने तो भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद, जबलपुर, ग्वालियर, रीवा, सतना आदि जिलों में तेज बारिश की संम्भावना है। वहीं इंदौर में सुबह से ही काले बादलों का घेरा लगा हुआ है।

4 साल में पहली बार लेट हुआ मानसून

मध्य प्रदेश में मानसून चार साल में पहली बार लेट हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार ऐसा पहली बार हुआ है जब मानसून लेट हुआ हो। साल 2014 में ऐसा हुआ था जब मानसून देरी से आया था। वहीं बात अगर बीते तीन सालों की करें तो मानसून 21, 22 जून तक मध्य प्रदेश में आ चुका था। मध्य प्रदेश में तेज बारिश की रफ्तार से जून की बारिश का कोटा भी पूरा हो सकता है।

rain

किसानों को होगा लाभ

मौसम बदलने के बाद भीषण गर्मी की मार झेल रही फसलों को जीवनदान मिला है। बीते कई दिनों से कड़ी धूप व गर्मी के चलते किसानों द्वारा बोई गई सब्जियों सहित पशु चारे की फसल दोपहर होते-होते सूखी जा रही है। किसानों को सूखने से बचाने के लिए हर दूसरे दिन सिंचाई करनी पड़ रही है जिसके बाद भी फसल सूख रही है।

वहीं बार-बार सिंचाई करने के कारण किसानों का लागत मूल्य भी दिनों- दिन बढ़ रहा है। अब इंद्र देवता के खुश होने के बाद सबसे ज्यादा लाभ किसानों को मिल रहा है। मौसम वैज्ञानिक का कहना है कि समुद्र तल पर मानसून लाइन झुनझुनू, शिवपुरी, सीधी, चाइबासा और दीघा तक फैली है। दीघा से पूर्वोत्तर में मध्य पूर्व बंगाल की खाड़ी में औसत समुद्र तल से 0.9 किमी ऊपर तक फैली है, इसी कारण से मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में तेज बारिश की संभावनाएं बन रही हैं।

Ad Block is Banned