हिंदी दिवस: हिन्दी में लिखा तो फेल हुआ था छात्र, अब बन गया है एकमात्र ऐसा विभाग, जहां व्यावसायिक शिक्षा की हिन्दी में होती है पढ़ाई

अर्थशास्त्र अध्ययनशाला में छात्र परीक्षा में दे सकते हैं हिन्दी में उत्तर

By: Ashtha Awasthi

Updated: 14 Sep 2021, 12:45 PM IST

इंदौर। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय का स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स (अर्थशास्त्र अध्ययनशाला) अपने आप में खास है। कुछ वर्ष पहले तक यहां व्यावसायिक विषयों की परीक्षा के जवाब सिर्फ अंग्रेजी में लिखने की बाध्यता थी, लेकिन वरिष्ठ प्रोफेसर की पहल पर व्यावसायिक विषयों की पढ़ाई और परीक्षा के लिए हिन्दी का विकल्प शुरू हो गया। यहां पढ़ने वाले छात्रों के पास आधारभूत विषयों के अलावा व्यावसायिक विषयों की परीक्षाओं में हिन्दी में जवाब देने का विकल्प है।

हिन्दी में लिखा तो अनुत्तीर्ण हुआ छात्र

वरिष्ठ प्रोफेसर और विभाग के तत्कालीन निदेशक पीएन मिश्रा ने बताया, करीब पांच साल पहले यहां के छात्र विनय कुमार ने एमबीए की परीक्षा में प्रश्न-पत्रों के जवाब अंग्रेजी के बजाय हिन्दी भाषा में दिए थे। अनुत्तीर्ण होने पर जांच पुनः करवाई तो पता चला हिन्दी में जवाब देने के चलते उत्तर पुस्तिका की जांच नहीं की गई थी। अब विकल्प शुरू करने का यह मामला ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआइसीटीई) तक पहुंचा था।

एआइसीटीई को लिखा पत्र

मिश्रा ने एआइसीटीई को हिन्दी में पत्र लिखकर सवाल किया कि क्या तकनीकी विषयों की परीक्षाओं में अंग्रेजी में जवाब लिखने की बाध्यता है? जवाब आया कि नहीं ऐसा नहीं है। विवि अपने स्तर पर क्षेत्रीय भाषाओं में जवाब लेने के लिए स्वतंत्र है। इसके बाद मिश्रा ने हिन्दी में जवाब लिखने के विकल्प की व्यवस्था शुरू की जो अब भी जारी है।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned