हनीट्रैप - पलासिया थाने में टीआई के केबिन में हुई केस पर चर्चा, आरती के घर छतरपुर पहुंची इंदौर पुलिस

हनीट्रैप - पलासिया थाने में टीआई के केबिन में हुई केस पर चर्चा, आरती के घर छतरपुर पहुंची इंदौर पुलिस
हनीट्रैप - इंदौर पलासिया थाने में टीआई के केबिन में हुई केस पर चर्चा, 22 तक पुलिस रिमांड पर सभी महिला आरोपी

Reena Sharma | Updated: 21 Sep 2019, 01:36:36 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

-हनीट्रैप मामले में पुलिस की टीम ने की महिला थाने पर चर्चा

 

चिंतन विजयवर्गीय @ इंदौर. हनीट्रैप मामले में शनिवार को इंदौर के महिला थाने पर एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र, एसपी पूर्व मो. यूसुफ कुरैशी, एएसपी अनिल पाटीदार, एएसपी क्राइम अमरेन्द्र सिंह चौहान, सीएसपी ज्योति उमट पहुंचे। इसके पहले सभी अधिकारियों की पलसिया थाने में टीआई के केबिन में काफी देर तक केस को लेकर बात हुई। मामले में मुख्य आरोपी आरती दयाल, मोनिका यादव, ओमप्रकाश कोरी 22 सितंबर तक रिमांड पर है। महिला थाने में इनसे अफसरों द्वारा पूछताछ की जा रही है।

must read : ब्यूटी ब्लैकमेलर: पूर्व मंत्री के इशारों पर चल रहा था इन हसीनाओं का गिरोह, कांग्...

बताया जा रहा है कि हनीटै्रप मामला अब इंदौर पुलिस के गले की हड्डी बन गया है। कारण है कि पुलिस ने इंदौर में जब आरती दयाल, मोनिका यादव और ड्राइवर ओमप्रकाश को हिरासत में लिया तो इसके बाद भोपाल के अफसरों को इसकी सूचना दी। भोपाल में इन्होंने श्वेता विजय जैन, श्वेता स्वप्निल जैन और बरखा अमित सोनी को गिरफ्तार तो कर लिया, लेकिन पुलिस इनका कनेक्शन नहीं निकाल पाई। उधर पुलिस अब तक ये भी पता नहीं लगा पाई कि श्वेता जैन के घर से जो १४ लाख १७ हजार रुपए मिले थे, वे कहां से आए थे। वहीं अफसर दबे जुबान यह भी कह चुके हैं कि मामले में अब अन्य फरियादियों या जिन लोगों के वीडियो इन्होंने बनाए वे सामने नहीं आएंगे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned