पत्नी को हार-पैर बांध 7 दिन कमरे में पटका, बच्ची को दूध पिलाने के बहाने रस्सी खुलवाकर भागी, सुनाई ये दर्दनाक कहानी

  • राजेंद्र नगर पुलिस ने पीडि़ता की शिकायत पर पति पर दर्ज किया केस
  • बस में बैठ कंडक्टर के मोबाइल से इंदौर निवासी परिजन से मांगी मदद
  • घायल हालत में कुक्षी से पहुंची इंदौर

By: हुसैन अली

Published: 03 Dec 2019, 12:08 PM IST

इंदौर. पति द्वारा हाथ-पैर बांधकर पत्नी से कई दिन लगातार मारपीट करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पति की प्रताडऩा से घायल हो चुकी महिला की जब होश में आती तो उसकी दूधमुंही बच्ची के गले पर चाकू अड़ाकर जान से मारने की धमकी दी जाती। पीडि़ता ने बच्ची को दूध पिलाने की जिद करते हुए अपने हाथ खुलवाए। इसके बाद वह मौका पाकर आरोपी के चंगुल से बचकर शहर पहुंची। परिवार को पति द्वारा विभिन्न तरह से प्रताडि़त करने की बात उजागर की। हालत गंभीर होने पर पुलिस ने पीडि़ता को हॉस्पिटल में भर्ती कराया। इसके बाद उनकी शिकायत पर आरोपी पति के खिलाफ केस दर्ज किया है।

पत्नी को हार-पैर बांध 7 दिन कमरे में पटका, बच्ची को दूध पिलाने के बहाने रस्सी खुलवाकर भागी, सुनाई ये दर्दनाक कहानी

टीआइ सुनील शर्मा के मुताबिक एक महिला की शिकायत पर उसके पति आरोपी टीनू निवासी कुक्षी के खिलाफ सोमवार को केस दर्ज किया है। परिवार के साथ थाने पहुंची पीडि़ता ने घटना की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आरोपी पति करीब एक सप्ताह पूर्व उन्हें व तीन माह की बच्ची को अनजान स्थान पर लेकर पहुंचा। यहां पति ने मारपीट करते हुए उनके हाथ-पैर बांध दिए। होश आने पर पीडि़ता ने देखा की उनकी दूधमुंही बच्ची के गले पर पति ने चाकू रखकर उसे जान से मारने की धमकी दी। कई विनती करने के बाद उनके हाथ की रस्सी खोलते। इसके बाद वह बच्चे को दूध पिला पाती।

पीडि़ता ने बच्ची को उठाया और भाग निकली

पति अपनी अनुपस्थिति में किसी को नजर रखने के लिए छोडक़र जाता। रविवार शाम पीडि़ता ने बच्ची को दूध पिलाने के लिए अनजान घर पर मौजूद एक व्यक्ति से हाथ की रस्सी खोलने की गुजारिश की। रस्सी खोलने के बाद वह वॉशरूम चला गया। इतने में पीडि़ता ने बच्ची को उठाया और घर का दरवाजा बाहर से बंद कर भाग निकली। बच्ची को गोद में लिए पीडि़ता बस में बैठ गई। बस कंडक्टर से परिजन से बात करने की गुहार लगाई। मोबाइल से इंदौर में रहने वाली बुआ से बात की। इसके बाद सभी उन्हें लेने राजेंद्र नगर स्थित बस स्टॉप पर पहुंचे।

पत्नी को हार-पैर बांध 7 दिन कमरे में पटका, बच्ची को दूध पिलाने के बहाने रस्सी खुलवाकर भागी, सुनाई ये दर्दनाक कहानी

हाथ-पैर में रस्सी की रगड़ से हुए घाव

घटना से दुखी भाई ने बताया कि बहन को इतना प्रताडि़त किया गया कि उनके हाथ-पैर में रस्सी की रगड़ से घाव हो गए। सभी उन्हें थाने लेकर पहुंचे। लेकिन बयान देने की स्थिति में नहीं हो पाने से पुलिस ने बहन को एमवाय में भर्ती कराया। वहीं थाने पहुंची पीडि़ता ने पति और सास पर आरोप लगाए है। आरोप है गर्भवती होने के दौरान पति ने कई यातनाएं दी। बच्ची के पैदा होने के बाद भी शारीरिक शोषण जारी रहा। इस बीच छह वर्ष पूर्व शादी कराने वाले सतीराम नामक व्यक्ति ने भी दुव्र्यवहार किया। आरोप यह भी है कि पति दबाव बना रहा था कि पीडि़ता अपने कजिन भाई के खिलाफ झूठी शिकायत और देह व्यापार में धकलने का दबाव बना रहा था। इस पूरे मामले में टीआइ शर्मा का कहना है कि पीडि़ता की सुनवाई करते हुए उसके पति पर कार्रवाई की है। प्रकरण की आगे की जांच कुक्षी पुलिस द्वारा की जाएगी।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned