एक लाख फोटोयुक्त मीटर रीडिंग की गुणवत्ता खराब

बिजली कंपनी के प्रबंध निदेशक ने सभी कार्यपालन यंत्री को दिए सुधार के निर्देश

By: amit mandloi

Published: 24 May 2018, 06:12 AM IST

इंदौर. उपभोक्ताओं की अधिक बिल की लगातार शिकायत और गलत रीडिंग को लेकर अब बिजली कंपनी ने सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। अगर फोटोयुक्त मीटर रीडिंग की क्वालिटी खराब आई या फिर रीडिंग में कोई गड़बड़ी मिली तो इसके लिए जोन अधिकारी जिम्मेदार होंगे। अभी करीब एक लाख फोटोयुक्त मीटर रीडिंग खराब क्वालिटी की आ रही है।
बिजली कंपनी उपभोक्ताओं को अधिक से अधिक सुविधाएं देने के साथ ही अपने करोड़ों रुपए के घाटे को भी कम करने में लगातार जुटी है। फोटोयुक्त मीटर रीडिंग में सुधार लाने के लिए प्रबंध निदेशक ने नए आदेश जारी किए हैं। मीटर रीडरों से लेकर कार्यपालन यंत्री तक सभी की जिम्मेदारी तय कर दी है। अगर फोटोयुक्त मीटर रीडिंग में कोई गड़बड़ी आती है तो इसके लिए जोन अधिकारी के साथ ही कार्यपालन यंत्री भी जिम्मेदार होंगे। उन अधिकारियों पर कार्रवाई कर एक वेतन वृद्धि तक रोकी जा सकती है। पिछले दिनों कंपनी के प्रबंध निदेशक आकाश त्रिपाठी ने बैठक लेकर सभी अधिकारियों को चेतावनी दी थी। बैठक में ही उन्होंने बताया था कि अभी भी फोटोयुक्त मीटर रीङ्क्षडग ठीक से नहीं हो रही है। करीब एक लाख रीडिंग की क्वालिटी खराब है। कंपनी के शहर में ६ लाख से अधिक उपभोक्ता हैं, उसमें से २० प्रतिशत रीडिंग काफी खराब है या फिर नहीं हो पा रही है। जोन के अधिकारी मीटर रीडर द्वारा लाई गई रीडिंग की जांच करने के बाद अगर रीडिंग खराब मिलती है तो फिर से रीडिंग करवाएंगे। उन्होंने बताया, फिलहाल पूर्व शहर संभाग की मीटर रीडिंग सबसे बेहतर है। सभी पांचों शहर संभाग को भी अपनी मीटर रीडिंग की क्वालिटी में सुधार लाना होगा।

फुट ओवर ब्रिज की राह हुई आसान
लक्ष्मीबाई नगर रेलवे स्टेशन का फुटओवर ब्रिज बनकर तैयार हो चुका, लेकिन ब्रिज को शुरू करने में जिम्मेदार रुचि नहीं ले रहे थे। ब्रिज में बाधाएं लगा रखी थीं ताकि लोग इसका इस्तेमाल न कर सकें। पत्रिका एक्सपोज द्वारा मामले को उठाने पर अब ब्रिज को जनता के लिए खोल दिया गया है।


बा णगंगा की ओर से यात्री लक्ष्मीबाई नगर रेलवे स्टेशन आ सकें, इसीलिए फुटआेवर ब्रिज बनाया गया था। ब्रिज बनकर तैयार हो चुका था, लेकिन ठेकेदार ने इसे बंद कर रखा था। यात्री अपनी जान जोखिम में डालकर जैसे-तैसे ब्रिज का उपयोग कर रहे थे। यात्रियों की परेशानी को लेकर पत्रिका एक्सपोज ने गत ८ मई को फोटो स्टोरी प्रमुखता से प्रकाशित की थी। कुछ दिनों बाद अधिकारी हरकत में आए और ब्रिज को शुरू करवाया गया। अब यात्री सुगमता से बाणगंगा से स्टेशन की ओर आवाजाही कर रहे हैं।

 

amit mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned