इस मैदान पर कभी नहीं हारा भारत, वीरू ने तोड़ा था मास्टर-ब्लास्टर का रिकॉर्ड

  इस मैदान पर कभी नहीं हारा भारत, वीरू ने तोड़ा था मास्टर-ब्लास्टर का रिकॉर्ड

शहर में होलकर स्टेडियम एक ऐसा मैदान है जहां पर भारत ने हमेशा जीत का झंडा लहराकर इतिहास रचा है। यह ग्राउंड भारत के लिए हमेशा लकी साबित हुआ है।


इंदौर। शहर में होलकर स्टेडियम एक ऐसा मैदान है जहां पर भारत ने हमेशा जीत का झंडा लहराकर इतिहास रचा है। यह ग्राउंड भारत के लिए हमेशा लकी साबित हुआ है। अब तक यहां खेले गए 4 एक दिवसीय क्रिकेट मैच में भारत ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। अब जल्द ही इंदौरियन्स को यहां पर 4 सफल एकदिवसीय मैच के बाद टेस्ट क्रिकेट का मजा भी मिलेगा। 8 अक्टूबर से भारत और न्यूजीलैंड के बीच यहां टेस्ट मैच खेला जाना है।


इतिहास बनाने जा रहे इस ग्राउंड की एक और बड़ी उपलब्धि है, यहां पर वीरेंद्र सहवाग ने मास्टर ब्लास्टर का वनडे में दोहरे शतक बनाने का रिकॉर्ड तोड़ा था। सहवाग ने इस ग्राउंड पर वनडे क्रिकेट में 219 रन बनाकर दोहरा शतक जड़ा था। 2015 में इस ग्राउंड को बीसीसीआई ने टेस्ट सेंटर का दर्जा दिया है।

holkar

मास्टर ब्लास्टर का तोड़ा था रिकॉर्ड

नजबगढ़ के नवाब ने इंदौर के होलकर स्टेडियम में मास्टर ब्लास्टर का सबसे बड़ा रिकॉर्ड तोड़ा था। वीरेंद्र सहवाग ने अपने करियर का दोहरा शतक इसी मैदान पर जड़ा था। वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलते हुए वीरू ने 25 चौके और 7 छक्के की मदद से 219 रन का विशाल स्कोर बनाया था।


अबतक हुए हैं चार वनडे क्रिकेट मैच

इंदौर के होलकर स्टेडियम में अबतक चार एक दिवसीय मैच हुए हैं। यहां पहला अंतरर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच पहली बार 15 अप्रैल 2006 में भारत और इंग्लैंड के बीच हुआ था। इसमें भारत ने इंग्लैंड को 7 विकेट से मात दी थी। इसके बाद 17 नवंबर 2008 में ओडीआई खेला गया था। इस मैच में भी भारत और इंग्लैंड बीच हुआ था। इस मैच में भी भारत ने इंग्लैंड को 54 रनों से हराया था।

test match

इसके बाद इस मैदान पर 8 दिसंबर को भारत और वेस्टइंडीज के बीच ओडीआई खेला गया था। इस मैच में वीरेंद्र सहवाग ने अपने करियर का हाईएस्ट वनडे स्कोर बनाया था। इस मैच में भारत ने वेस्टइंडीज को 153 रनों से शिकस्त दी थी। इसके बाद हाल ही में भारत और साउथ अफ्रीका के बीच इस मैदान पर चौथा वनडे मैच खेला गया था। इस मैच में भी भारत ने साउथ अफ्रीका को 22 रनों से मात दी थी।

नवंबर 2015 में मिला टेस्ट का दर्जा

एमपीसीए की मेजबानी में होलकर स्टेडियम में चार एकदिवसीय मैचों का सफलतापूर्वक संचालन किया जा चुका है। आखिरी मैच दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच 14 अक्टूबर 2015 को हुआ। ये डे-नाइट मुकाबला भी शानदार रहा। होलकर स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय स्तर की सभी सुविधाएं मौजूद हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned