कभी पढ़ाई के लिए पैसे नहीं थे, अब करते हैं 36 करोड़ की कमाई

कभी पढ़ाई के लिए पैसे नहीं थे, अब करते हैं 36 करोड़ की कमाई

पढ़ाई के दौरान पैसे कम पड़ते थे। सोचते थे कि ऐसी तकनीक हो कि स्टूडेंट्स बिना इंटरनेट व मोबाइल के सूचना का आदान-प्रदान कर सकें। 


इंदौर। पढ़ाई के दौरान पैसे कम पड़ते थे। सोचते थे कि ऐसी तकनीक हो कि स्टूडेंट्स बिना इंटरनेट व मोबाइल के सूचना का आदान-प्रदान कर सकें। तब व्हाट्स एप चलन में नहीं था। ग्रुप में  मैसेज करने में काफी पैसे लगते थे। तीनों ने एक सिस्टम बनाया, जिसे कुछ आईआईटी और चेन्नई के कॉलेज ने खरीदा। ऐसे ही तीन दोस्तों की बात बनती गई। आज करोड़ों की कंपनी खड़ी कर दी है और विट्टी फीड दुनिया की दूसरी बड़ी वायरल कंटेंट कंपनी बन गई है। पिछले साल 36 करोड़ कमाई हुई है। 


world

तीनों ने फेसबुक पर एक पेज बनाया-अेजिंग थिंग्स इन दि अर्ली वल्र्ड। इसके कुछ ही समय में 42 लाख फालोअर्स हो गए। इसने बढ़ाई रुचि तो बदल गई तीनों की जिंदगी।


तिकड़ी में कौन

विनय, प्रवीण सिंघल, शशांक वैष्णव
कंपनी : वत्साना, 2014 में शुरू
उत्पाद : वेबसाईट विट्टीफीड 
चेन्नई के एसआरएम विवि से बीटेक परवीन और विनय हरियाणा के एक गांव मुनसर से और शशांक मप्र के बडऩगर जैसे छोटे कस्बे से हैं। 300 स्क्वायर फीट एरिया में कंपनी शुरू की, अब इंदौर की प्राइम लोकेशन पर 10 हजार स्क्वायर फीट का फ्लोर खरीदा 
वेबसाइट का वर्जन विट्टीफीड 2.0 लांच 




world

लक्ष्य : 60 करोड़

-भारत की सबसे बड़ी वायरल कंटेंट कंपनी है विट्टीफीड।
-वैश्विक स्तर पर नंबर वन कंपनी बुज्जफीउ है।
-भारत में प्रतिस्पर्धी कंपनी स्कूलव्हूप है।
-अमरीका की टॉप 100 में
-ब्रिटेन की टॉप 30 में
-पिछले वित्तीय वर्ष में कमाई 36 करोड़ 
-वर्तमान वित्तीय वर्ष में कमाई का लक्ष्य 60 करोड़ रुपए 
-वर्तमान में कंपनी की वैल्यू 50 मिलियन यूएस डॉलर
-शुरुआती दौर में 10,000 यूजर्स 
-40 लाख से ज्यादा लाइक्स मिले।
-वेबसाइट पर रोजाना 50 से लाख 60 हिट आते हैं। 
-420 मिलियन पेज व्यू है
-2.5 बिलियन एड इम्प्रेशन 
-30,000 फेसबुक पेज

ऐसे कमाई करते हैं तीनों दोस्त
शशांक ने बताया कि हमने वत्साना नाम से कंपनी बनाई है। अक्टूबर 2014 में हम इंदौर आ गए और विट्टीफीड के नाम से एक वेबसाइट शुरू की। यह वेबसाइट वत्साना कंपनी का ही प्रोडक्ट है। इसके जरिये ऑथर का कंटेट वायरल किया जाता है। जिस कंटेट को जितने व्यू मिलते हैं, उसके हिसाब से ऑथर को-पे किया जाता है। इसका लाभ लिखने के शौकीन उठा रहे हैं। अभी तक ऐसे लोग इससे कमाई नहीं कर पाते हैं। हमने विट्टीफीड के जरिए एक प्लेटफॉर्म विकसित किया और उसे लोगों के आमदनी का जरिया बना दिया। 


MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned