गर्लफ्रेंड से भी ले चुका है गाड़ी के लिए रुपए

आर्मी फर्जी कैप्टन का मामला, पुलिस कर रही है पूछताछ

By: Chintan

Published: 03 Mar 2019, 11:59 PM IST

इंदौर. आर्मी कैप्टन बनकर ठगी करने वाला युवक कई घटनाएं बता रहा है। लेकिन इन मामलो में कोई फरियादी सामने नहीं आया। वह गर्लफ्रेंड के पिता से भी गाड़ी दिलाने के नाम पर रुपए ऐंठ चुका है। और कोई पीडि़त सामने आता है तो पुलिस केस दर्ज करेंगी।

बाणगंगा पुलिस ने आर्मी के फर्जी कैप्टन शुभमकांत चतुर्वेदी उर्फ रुद्रांश संधू (25) निवासी चंदेरी, अशोक नगर को गिरफ्तार किया था। वह 5 मार्च तक पुलिस रिमांड पर है। जांचकर्ता एसआई अर्जुन सिंह राठौर ने बताया, उसकी जानकारी लेने के लिए पुलिस टीम चंदेरी गई थी। वहां पर उसका घर मिल गया। यहां उसकी मां व भाई रहता है। उन्हें भी बेटे की हरकतो की जानकारी नहीं थी। उसने बताया था कि इंदौर में वह प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है। उसकी शादी नहीं हुई है। काफी समय से वह घर से बाहर है। परिवार को भी उसकी हरकत की जानकारी मिली तो वे भी हैरत में पड़ गए। वहां पर स्थानीय थाने में शुभमकांत का कोई रिकॉर्ड नहीं मिला है। उसने बताया कि एमआईजी थाने में उस पर मारपीट का एक केस दर्ज हुआ था। इसकी जानकारी पुलिस ले रही है। पूछताछ में उसने अपनी गर्लफ्रेंड के पिता से 24 हजार रुपए लेना बताया। यह रुपए कैंटीन से सस्ते में एक्टिवा दिलाने के लिए लिए गए। पुलिस ने परिवार से संपर्क किया लेकिन बदनामी के डर से उन्होंने रिपोर्ट लिखाने से मना कर दिया। एक महिला से उसने 12 हजार रुपए उधार भी लेना बताया। पुलिस उससे पूछताछ में जुटी है। अफसरों के मुताबिक और भी कोई पीडि़त सामने आता है तो केस दर्ज किया जाएगा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned