कॉउसलिंग के बाद कोल्ड रेस्टोरेज संचालक रुपए लौटाने को हुआ तैयार

सीनियर सिटीजन पुलिस पंचायत में शिकायत, गाजर बेचकर नहीं दे रहा था रुपए

By: Chintan

Published: 07 Jun 2018, 09:52 PM IST

इंदौर. सीनियर सिटीजन ने अपनी बचत से सब्जी का काम शुरू किया। कोल्ड रेस्टोरेज में रखी गाजर को संचालक ने ही चोरी छिपे बेच दिया। पैसा या गाजर नहीं देने पर सीनियर सिटीजन परेशान होते रहे। पुलिस की कॉउसलिंग के बाद कोल्ड रेस्टोरेज संचालक पैसा लौटाने को तैयार हुआ।
एमआईजी इलाके में रहने वाले 74 वर्षीय सीनियर सिटीजन ने सीनियर सिटीजन पुलिस पंचायत में शिकायत की थी। उन्होंने अपनी जमा पूजी 2 लाख 93 हजार रुपए से गाजर खरीदकर कर महू स्थित कोल्ड रेस्टोरेज में रखे थे। ४ महीने बाद जब गाजर के रेट बढ़े तो उसे बेचने के लिए उन्होंने कोल्ड रेस्टोरेज मालिक दिलीप से मांगा। कई दिन तक उन्हें गाजर नहीं दी गई। वे कोल्ड रेस्टोरेज के चक्कर लगाते रहे। हर बार कोई बहाना बनाकर मालिक उन्हें टरका देता। इसी बीच उन्हें पता चला कि उनकी गाजर को कोल्ड रेस्टोरेज मालिक ने बेच दिया है। उसकी कीमत साढ़े चार लाख रुपए हो गई थी। जब सीनियर सिटीजन ने पैसा मांगा तो इसके लिए भी दिलीप तैयार नहीं हुआ। परेशान हो चुके सीनियर सिटीजन ने पुलिस को शिकायत की। बुधवार को कॉउसलिंग में पुलिस ने दोनो पक्षों को बुलवाया। दिलीप पहले रुपए लौटाने को तैयार नहीं था।
जब उसे बताया गया कि उसने गाजर बेचकर धोखाधड़ी की है। इसमें उसके खिलाफ केस दर्ज हो सकता है। तब वह पैसा लौटाने को तैयार हुआ। गाजर की वर्तमान कीमत वह नहीं दे रहा। उसने तीन लाख रुपए देने की बात स्वीकार की। अगले बुधवार को कॉउसङ्क्षलग के दिन उसने पैसा देने की बात टीम के सामने कही। एएसपी प्रशांत चौबे ने बताया कि कोल्ड रेस्टोरेज संचालक से बुर्जुग को पैसा दिलवाया जाएगा। काफी दिन से वे परेशान हो रहे थे। सीनियर सिटीजन पुलिस पंचायत की टीम की कॉउसङ्क्षलग के बाद वह पैसा लौटाने के लिए तैयार हुआ। पुलिस की कॉउसलिंग के बाद कोल्ड रेस्टोरेज संचालक पैसा लौटाने को तैयार हुआ।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned