हत्या करने वाले को मौके पर पकडऩे वाले पुलिसकर्मियों को इनाम

हत्या करने वाले को मौके पर पकडऩे वाले पुलिसकर्मियों को इनाम

Chintan Vijayvargiya | Publish: Sep, 16 2018 06:51:54 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 06:51:55 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

एमआईजी में युवती की हत्या का मामला, युवती को घायल करना चाहता था युवक

इंदौर. एमआईजी इलाके में युवती पर दराते से हमला करने वाले युवक को मौके पर पकडऩे वाले दोनो पुलिसकर्मियों के साथ टीआई को इनाम दिया गया है। आरोपित को घटना पर कोई पछतावा नहीं था। वह तो युवती को ही घटना के लिए जिम्मेदार बताता रहा।

एमआईजी इलाके में अनूप नगर में गुरूवार रात सुप्रिया जैन (23) पर कमलेश साहू ने दराते से जानलेवा हमला कर दिया था। इस दौरान मौके पर पहुंची डॉयल 100 गाड़ी में तैनात हैड कांस्टेबल जबर सिंह भदौरिया ने हमला कर रहे कमलेश को पकडक़र काबू किया था। साथी सिपाही जिनेंद्र ने भी मदद की। युवती को अस्पताल में भर्ती करवाकर इलाज के लिए विशेष प्रयास करने वाले टीआई तहजीब काजी के प्रयास को भी अफसरों ने सराहा। एसपी अवदेश गोस्वामी ने जबर सिंह को १० हजार रुपए, टीआई काजी व सिपाही जिनेंद्र को 5-5 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की। एसपी ने बताया कि पुलिसकर्मियों की तत्परता व सजगता से ही मौके पर आरोपित को पकड़ा जा सका। युवती की हत्या करने वाले कमलेश को कोई पछतावा नहीं है। वह युवती के प्रति काफी गुस्सा बताता है। युवती को ही वह घटना का जिम्मेदार भी बताता रहा। हांलाकि उसने बताया कि उसकी मंशा युवती पर सिर्फ हमला करने की थी। उसकी जान वह नहीं लेना चाहता था। वार करने के दौरान गुस्से में वह मारता गया। वह जानबूझकर अपना मोबाइल घर पर ही छोडक़र गया ताकि पुलिस लोकेशन निकालकर उस तक नहीं पहुंचे। उसे कोई जानता नहीं था। घायल युवती को अस्पताल ले जाते समय जब टीआई ने कमलेश का नाम व फोटो बताया तो उसने पहचाना व कहां कि दोनो स्कूल में साथ पढ़ते थे। तीन महीने से कमलेश उसका पीछा कर रहा था लेकिन इस बारें में कभी युवती को भनक तक नहीं लगी।


में गंदा दिखाता तो बात नहीं करती

पुलिस ने कमलेश के घर से उसका मोबाइल जब्त किया है। फेसबुक प्रोफाइल के जरिए वह सुप्रिया से मैसेज कर बात करने लगा था। उसने फेसबुक पर भी उसे प्रपोज किया तो सुप्रिया ने मना करते हुए पढ़ाई पर ध्यान देने को कहां। जब सुप्रिया नहीं मानी तो फेसबुक पर उसके पोस्ट व फोटो के जरिए कमलेश उसकी तलाश करने लगा। जब वह अन्य युवकों से बात करते उसे देखता तो फेसबुक पर मैसेज करता। मैसेज में उसे कहता कि में गंदा दिखता हूं इसलिए तुम मुझसे बात नहीं करती है जबकि अन्य युवकों से तुम्हारी दोस्ती है। तब सुप्रिया ने उसे डपटते हुए मैसेज नहीं करने को कहां। जब उसने मैसेज करना बंद नहीं किया तो सुप्रिया ने उसे ब्लॉक कर दिया। ये सभी मैसेज कमलेश के मोबाइल में सुरक्षित थे। पुलिस ने मोबाइल को जब्त किया है।

Ad Block is Banned