रात में वाट्सऐप पर सिक्योरिटी एजेंसी संचालक ने कहां परिवार का ध्यान रखना, सुबह इस हालत में मिला

लसूडिय़ा इलाके का मामला, वाट्सऐप पर परिवार को भेजा था सुसाइड नोट

By: Chintan

Published: 18 Feb 2020, 06:30 AM IST

इंदौर. सिक्योरिटी एजेंसी संचालक की आत्महत्या मामले में पुलिस ने बिल्डर पर केस दर्ज किया। बकाया पैसा मांगने पर बिल्डर धमकी देता था। इसी से परेशान होकर संचालक ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली।

लसूडिय़ा इलाके में स्कीम 78 निवासी दिनेश कुमार मिश्रा (44) ने लसूडिय़ा बायपास पर संस्कार सिटी में जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी। शार्ट पीएम रिपोर्ट से जहर से मौत की पुष्टि हुई। आत्महत्या के पहले मिश्रा ने अपने रिश्तेदारो व परिजन को वाट्सऐप पर एक सुसाइड नोट बनाकर भेजा था। इसमें बताया था कि बिल्डर गोपाल गोयल के प्रोजेक्ट में उसकी एजेंसी के सिक्योरिटी गार्ड लगे है। तीन साल में सिक्योरिटी गार्ड का करीब 18.50 लाख रुपए पैसा बकाया था। पैसा मांगने पर गोयल जान से मारने की धमकी देता है। इसी के चलते परेशान हूं। परिवार के लोगो को ध्यान रखना। परिवार के लोगो ने भी अपने बयानो में बताया कि बकाया पैसा नहीं मिलने के चलते मिश्रा काफी परेशान चल रहे थे।

गोपाल गोयल की संस्कार सिटी, दो अन्य प्रोजेक्ट, उनके घर पर सिक्योरिटी गार्ड लगे थे। तीन साल से पैसा नहीं मिल पाने के कारण गार्डो को तनख्वाह नहीं दे पाए। इसी के चलते तनाव में रहने लगे। 14 फरवरी की रात संस्कार सिटी में मिश्रा गार्ड चेक करने गए थे। एक गार्ड छुट्टी पर था तो वे खुद ही ड्यूटी के लिए रुक गए। 15 फरवरी की सुबह जब वे नहीं उठे तो लोगो ने उनके मोबाइल से परिवार को जानकारी दी। लसूडिय़ा पुलिस ने रविवार को गोपाल गोयल के खिलाफ आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का केस दर्ज किया है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned